JamshedpurJharkhand

HCL : एन्वायरमेंट क्लियरेंस मिलने के साथ ही दो वर्ष से बन्द पड़ी सुरदा माइंस के खुलने का रास्ता साफ, ये रही पूरी जानकारी

Ghatshila : हिंदुस्तान कॉपर लिमिटेड (एचसीएल) की सुरदा माइंस के एन्वायरमेंट क्लियरेंस पर सोमवार को भारत सरकार की मुहर लग गई. भारत सरकार की वन, पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय ने सुरदा माइंस को एन्वायरमेंट क्लियरेंस प्रदान कर दिया हैं. इससे सम्बन्धित सूचना सम्बंधित विभाग के पोर्टल पर सोमवार को जारी होने के साथ कम्पनी प्रबंधन और कर्मचारियों के बीच खुशी देखने को मिल रही है. खासकर सुरदा माइंस के मजदूरों ने खुशी जाहिर करते हुए भारत सरकार के प्रति अपना आभार जताया है.

एन्वायरमेंट क्लियरेंस मिलने से बीते दो वर्ष से बन्द पड़ी सुरदा माइंस में प्रोडक्शन शुरू होने का मार्ग पूरी तरह से प्रशस्त हो गया है. वहीं, एन्वायरमेंट क्लियरेंस मिलने के साथ ही एचसीएल को सुरदा माइंस से सालाना 9 लाख टन कन्सन्ट्रेट उत्पादित करने की भी स्वीकृति मिल गई है. सुरदा माइंस में फिलहाल 3 लाख 17 हजार टन प्रतिवर्ष ही कन्सन्ट्रेट का उत्पादन करने की मंजूरी है. हाल ही में झारखंड सरकार ने भी एचसीएल को 3 लाख 17 हजार टन प्रतिवर्ष कन्सन्ट्रेट उत्पादित करने के लिए कंसर्न टू ऑपरेट (सीटीओ) पत्र प्रदान किया था. एन्वायरमेंट क्लियरेंस मिलने के बाद एचसीएल सालाना 9 लाख टन कन्सन्ट्रेट उत्पादन के लिए झारखंड सरकार से सीटीओ की मांग करेगी. जाहिर है कि इससे आने वाले दिनों में एचसीएल की आर्थिक स्थिति और भी मजबूत होगी तथा रोजगार के नए अवसर भी सृजित होंगे.

सुरदा माइंस के एन्वायरमेंट क्लियरेंस को लेकर एचसीएल-आईसीसी प्रबंधन बीते करीब दस वर्ष से संघर्षरत थी. वर्ष 2012 में ही एन्वायरमेंट क्लियरेंस के लिए प्रबंधन ने एप्लाई किया था. हालांकि विभिन्न तकनीकि कारणों से मामला फंसा रहने के कारण एन्वायरमेंट क्लियरेंस को मंजूरी नहीं मिल रही थी. इस बीच, 31 मार्च 2020 को सुरदा माइंस का लीज समाप्त होने के कारण एक अप्रैल से उत्पादन कार्य पूरी तरह बन्द हो गया जिससे बड़ी संख्या में मजदूर बेरोजगार हो गए. लीज रिन्यूवल के लिए संघर्षरत प्रबंधन के लिए यह जरूरी हो गया था कि भारत सरकार के वन, पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय से एन्वायरमेंट क्लियरेंस हासिल की जाए. लीज रिन्यूवल के लिए वन एवं पर्यावरण मंत्रालय ने कम्पनी को सशर्त एन्वायरमेंट क्लियरेंस प्रदान किया था. सशर्त एन्वायरमेंट क्लियरेंस मिलने के बाद राज्य सरकार की कैबिनेट ने 9 दिसंबर 2021 को एचसीएल को 20 वर्ष के लिए सुरदा माइंस का लीज एक्सटेंशन प्रदान किया था. लीज एक्सटेंशन को मंजूरी मिलने के बाद जरूरी था कि वन, पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय एचसीएल को स्थाई एन्वायरमेंट क्लियरेंस प्रदान करें. सोमवार को सम्बन्धित मंत्रालय ने इसे मंजूरी देकर सुरदा माइंस में एकबार फिर उत्पादन शुरू करने की अनुमति प्रदान कर दी है.

Sanjeevani

ये भी पढ़ें : खगड़िया जिला कोर्ट में बाहुबली पूर्व सांसद आनंद मोहन हुए पेश

Related Articles

Back to top button