Hazaribagh

हज़ारीबागः गर्मी बढ़ने के साथ ही निगम क्षेत्र में बढ़ी पानी की किल्लत

Hazaribagh: गर्मी बढ़ने के साथ ही हजारीबाग नगर निगम क्षेत्र में पानी की किल्लत होने लगी है. आलम ये है कि वाटर टावर चौक के पास हर समय दर्जनों लोगों की लाइनें लगने लगी है. जबकि गाड़ी खाना के पास सुबह व शाम पानी के लिए जमवाड़ा लगा रहता है.

पानी जल्दी लेने के लिए कई बार तो झगड़े भी होते रहें हैं. निगम द्वारा पानी के आते ही कोलाहल शुरू हो जाता है. स्थिति केवल उपरोक्त दो स्थानों पर ही नहीं, बल्कि शहर के प्रमुख स्थानों पर भी इसी तरह की देखी जा रही है. सार्वजनिक चापानलों के स्थान पर कभी भी पानी के लिए लोगों का शोर सुनाई देता है.

इसे भी पढ़ेंःसिद्धू ने अपनी ही पार्टी के समर्थक को दिया धक्का, वीडियो हुआ वायरल

ram janam hospital
Catalyst IAS

लोग दर्जनों बर्तनों के साथ पहुंचते हैं और जद्दोजहद के बाद पानी लेकर वापस अपने घरों को लौटते हैं. शहर के दर्जनों स्थानों पर चापानल खराब है. और तो और कई स्थान पर डीप बोरिंग भी बंद पड़ी है. इस संबंध में वार्ड पार्षद सहित अन्य ने निगम के कार्यपालक पदाधिकारी को सूचित किया.

The Royal’s
Pushpanjali
Sanjeevani
Pitambara

जिस अनुपात में चापानलों की मरम्मती की जानी थी उस अनुपात में काम नहीं हो रहा है. मजबूरन वार्ड पार्षद भी निगम एडमिनिस्ट्रेशन के व्हाट्सएप पर निगम के खराब पड़े हुए चापानलों की फोटो डालकर त्राहिमाम संदेश जारी कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ेंःकमल हासन का विवादित बयानः कहा- हिन्दू था भारत का पहला आतंकवादी, नाम था नाथूराम गोडसे

लेकिन इस दिशा में कार्यपालक पदाधिकारी सुरेश यादव की भूमिका पर सवाल उठाए जा रहे हैं. अगर खराब पड़े नलों की बात करें तो शहर के विभिन्न क्षेत्रों जैसे भारतीय स्टेट बैंक मुख्य शाखा के पास एवं हीराबाग चौक के समीप स्थित चापाकल के खराब होने की जानकारी देते हुए मरम्मती की मांग की है.

निगम के व्हाट्सएप पर पुलिस लाइन स्थित डीप बोरिंग और एसपी आवास के समीप स्थित डीप बोरिंग के खराब हो जाने की जानकारी देते हुए इसके तत्वरिय मरम्मत करवाने का आग्रह किया गया है. ऐसा होने पर लोगों के लिए पेयजल की समस्या कुछ हद तक समाधान होने की बात कही गई है.

मरम्मत के लिए हो रहा प्रयास- महापौर

निगम क्षेत्र में कई स्थान पर चापानलों की खराब होने एवं डीप बोरिंग के काम नहीं करने की बात पर महापौर रोशनी तिर्की ने कहा है कि उन सभी खराब व बंद पड़े चापानलों की मरम्मत के लिए प्रयास किया जा रहा है.

उन्होंने कहा है कि इस संबंध में चापाकल मरम्मत करवाने वाली टीम को निर्देश दिया जा चुका है, जबकि कुछ की मरम्मती हो चुकी है और शेष की मरम्मत करवाई जा रही है.

उन्होंने यह भी बताया है कि चापानलों को दुरुस्त करने की दिशा में आवश्यक निर्देश दिए गए हैं. एक स्थान पर खराब पड़े मोटर को बदला जा चुका है हालांकि उन्होंने इस मामले में निगम के अधिकारियों द्वारा अपेक्षित सहयोग नहीं मिल पाने की भी बात कही है.

इसे भी पढ़ेंःअमित शाह को जाधवपुर में रैली की नहीं मिली इजाजत, ममता सरकार के खिलाफ चुनाव आयोग जायेगी BJP

Related Articles

Back to top button