न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

हजारीबाग : पत्नी ने प्रेमी के साथ मिलकर की पति की हत्या,  दर्ज कराया पति के अपहरण का मामला, भेद खुला, गिरफ्तार

मृतक की पत्नी ने केरेडारी थाना में पति के अपहरण होने का मामला दर्ज करा कर पुलिस को गुमराह करने की कोशिश की.

1,760

Hazaribagh : केरेडारी थाना क्षेत्र के पहरा गांव निवासी गंगाधर साव की हत्या उसकी पत्नी उषा देवी ने समीप के गांव हेवई निवासी प्रेमी कृष्णा महतो के साथ मिलकर कर दी थी और शव को घाघरा डेम में फेंक दिया था. जिसमें पड़ोसी महेंद्र यादव ने भी सहयोग किया था.  यह घटना 14 माह पहले 18 मार्च 2018 को घटी थी. इस संबंध में मृतक की पत्नी ने केरेडारी थाना में पति के अपहरण होने का मामला दर्ज करा कर पुलिस को गुमराह करने की कोशिश की.  उसने पुलिस को इस हद तक गुमराह किया कि मृतक का छोटा भाई महेंद्र साव थाना से लेकर सभी संबंधित वरीय पदाधिकारियों एवं डीजीपी और मुख्यमंत्री के दहलीज तक पहुंच कर लगातार कहता रहा कि मुझे आशंका है कि मेरे भाई की हत्या मेरी भाभी ने ही प्रेमी के साथ मिल कर किया है.

उसने डीजीपी तक को दोनों प्रेमी युगल का संदिग्ध फोटो भी सबूत के तौर पर दिखाया था जो पुष्टि करते हैं कि दोनों में प्रेम प्रसंग है. लेकिन पुलिस ने मृतक के भाई की नही सुनी. इसके बाद उषा देवी महेन्द्र को लगातार धमकी देती रही कि मेरे खिलाफ शिकायत की तो तुमको फंसा देंगे या तुम्हारा भी हाल तेरे भाई जैसा करेंगे. इसके बावजूद महेंद्र न्याय के लिए लगातार दर-दर भटकता रहा .

अतंत:  12 जुलाई को सच सामने आ हीं गया कि पत्नी ने ही प्रेमी व पड़ोसी के साथ मिल कर पति की हत्या कर दी और मुम्बई में जाकर उन्होंने शादी भी कर ली.  पुलिस ने शुक्रवार को तीनों हत्यारों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया. इस मामले को न्यूज विंग ने प्रमुखता से चलाया था.

इस अपहरण मामले में बड़ा व सनसनीखेज खुलासा केरेडारी पुलिस ने 16 माह बाद किया है. जिसका कांड संख्या 18/2018 है. थाना प्रभारी बमबम सिंह ने तीनों आरोपी उषा देवी पति स्व गंगाधर साव, महेंद्र यादव (दोनो पहरा गांव) व कृष्णा महतो (हेवई) को गिरफ्तार कर शुक्रवार को जेल भेज दिया है.  थाना प्रभारी ने बताया कि उषा देवी का  संबंध काफी दिनों से हेवई निवासी कृष्णा महतो के साथ है.  अपने पति को रास्ते से हटाने के लिए उषा देवी ने अपने पड़ोसी महेंद्र यादव व प्रेमी हेवई गांव निवासी कृष्णा महतो के साथ मिलकर 18/03/2018 के मध्य रात्रि को अपने घर मे ही गंगाधर साव का गला दबा कर हत्या कर दी.

hotlips top
मृतक गंगाधर का भाई महेंद्र

शव  गांव के समीप स्थित घाघरा डैम के ऊपरी जलाशय में डाल दिया गया

साक्ष्य छुपाने के लिए रात्रि में ही एक बाइक से शव को उठा कर गांव के समीप स्थित घाघरा डैम के ऊपरी जलाशय में डाल दिया गया.  दूसरे दिन गंगाधर साव की पत्नी उषा देवी घडिय़ाली आंसू बहाते हुए केरेडारी थाना पहुंची और पति के अपहरण होने का मामला दर्ज कराया.  उसके बाद से पुलिस उषा देवी के हर गतिविधि पर नजर रख रही थी. इस क्रम में  पता चला कि उषा देवी ने मुंबई जाकर एक मंदिर में कृष्णा महतो से शादी रचा ली है, इसके बाल  संदेह हकीकत में बदल गया और गुरुवार को बडक़ागांव चौक स्थित संजय स्वीट दुकान के पास से कृष्णा को गिरफ्तार किया गया.  उसके बाद उषा और महेंद्र को भी गिरफ्तार कर लिया गया.

कड़ाई से पूछताछ की गयी,  तब हत्या का खुलासा हुआ. तीनो आरोपियों द्वारा बताया गया कि शव को घाघरा डैम में फेंका गया है.  उनकी निशानदेही पर शव की का काफी खोजबीन की गयी.  डैम में पानी होने की वजह से गोताखोर भी लगाया गया परन्तु शव का कंकाल भी नही मिला. पुलिस ने शव ढोने में प्रयुक्त बाइक, मोबाइल और उषा व कृष्णा के बीच हुए शादी का फोटो ग्राफ बरामद कर लिये हैं.   अब इनलोगों पर हत्या कर लाश छुपाने के आरोप में कार्रवाई की जायेगी.

इसे भी पढ़ें – सरकारी अफसर से मारपीट के मामले में BCCI के कार्यकारी सचिव व पूर्व IPS अमिताभ चौधरी की अग्रिम जमानत याचिका खारिज

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

o1
You might also like