HazaribaghJharkhand

हजारीबाग : पशु चिकित्सालय की हालत खस्ता, 4 कर्मियों के भरोसे चल रहा अस्पताल

Hazaribagh : शहर के कल्लू चौक स्थित प्रांतीय पशु चिकित्सालय अस्पताल की हालत खस्ता है. मात्र चार स्टाफ के भरोसे ये अस्पताल चल रहा है. जो की लोगों के लिए परेशानी का सबब बन रहा है. इलाज के लिए अस्पताल आने वाले पशुपालक और किसान अपने जानवरों का इलाज समय पर नहीं करा पा रहे हैं. किसान और पशुपालकों की सुविधा को लेकर 17 दिसम्बर 2017 को इस अस्पताल की शुरुआत की गयी थी.

24 घंटे सेवा देने के लक्ष्य के साथ तत्कालीन उपायुक्त रवि शंकर शुक्ल ने इसे एक मॉडल के रूप में किया था. आज भी हजारीबाग के अलावा रामगढ़,कोडरमा,चतरा के पशुपालक अस्पताल पहुंचते हैं, लेकिन कर्मियों की कमी के कारण पशुपालकों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है.

इसे भी पढ़ें :पीएम हाउस में बैठक के बाद कितनी बदलेगी कश्मीर की तस्वीर !

वेटनरी हॉस्पिटल में कीमती अल्ट्रासाउंड एक्सरे मशीन लगी है. लेकिन इसका फायदा पशुपालकों को नहीं मिल पा रहा है. वहीं अस्पताल में दवा के अभाव की भी बात सामने आ रही है.

पशु अस्पताल के प्रभारी डॉ. हेमंत विक्टर ने कहा कि पिछले छह माह से टेक्निकल कर्मी की मांग की जा रही है. लेकिन विभाग की तरफ से कोई पहल नहीं गयी. जिससे काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.

इसे भी पढ़ें :प्रियंका गांधी के पति हैं तो क्या हुआ, जानिए क्यों रॉबर्ट वाड्रा के नाम जारी हुआ चालान

Related Articles

Back to top button