HazaribaghJharkhand

हजारीबाग: बरही में ग्रामीणों की समस्याएं देख मुखिया ने निजी खर्च से लगा दिया चापाकल

Hazaribagh: जहां मुखिया पंचायत की विकास योजनाओं और कार्यों के लिए सरकार पर निर्भर हैं, वहीं क्षेत्र में ऐसे भी मुखिया हैं, जो ग्रामीणों की समस्याओं को सरकार के भरोसे नहीं छोड़ते. ऐसे ही एक मुखिया हैं बरही पश्चिमी पंचायत के छोटन ठाकुर.

इसे भी पढ़ें :  जज उत्तम आनंद मौत मामले की जांच के लिये एसआइटी गठित, ऑटो चालक ने स्वीकारा-धक्का मारे थे

उन्होंने प्रखंड मुख्यालय से सटे दलित बहुल बाराटांड मोहल्ले में पेयजल समस्या के समाधान के लिए खुद के खर्च से एक चापाकल लगवा दिया. उन्होंने सार्वजनिक स्थल पर लगाया गया चापाकल का उद्घाटन ग्रामीणों के साथ किया. इसके लिए आसपास के लाभान्वित होने वाले ग्रामीणों ने भी उन्हें साधुवाद दिया. मुखिया छोटन ठाकुर कहते हैं कि करीब 20 घर के लोग पेयजल की समस्या से लगातार जूझ रहे थे. सरकारी स्तर पर यहां पेयजल की व्यवस्था नहीं होने के कारण प्रतिदिन लोग पानी के लिए परेशान रहते थे. ग्रामीणों के इस दर्द से वे भी काफी चिंतित रहते थे. किंतु उनके पास चापाकल लगाने के लिए मुखिया मद में राशि नहीं रहने के कारण चापाकल लगवाने में असमर्थ थे.

advt

इसे भी पढ़ें : थर्ड वेव की आहट : केरल में कोरोना ने मचाया कोहराम, 31 जुलाई व 1 अगस्त को कंप्लीट लॉकडाउन

संबंधित विभाग से भी उन्होंने कई बार गुहार लगाई, किंतु चापाकल नहीं लग पाया. उन्होंने ग्रामीणों की समस्या और मांग को देखते हुए अपने खुद के खर्च से इस घनी आबादी के बीच चापाकल लगवाया. यहां सार्वजनिक स्थल पर सड़क किनारे चापाकल लगने से राहगीरों को भी लाभ मिलेगा. मौके पर समाजसेवी संजय रविदास, शिक्षक संजय रविदास, राज आर्यन उर्फ छोटी, भग्गू रविदास, सूरज रविदास, दिलीप रविदास, कमल रविदास, गोरवा मसोमात, सुनीता देवी, शीला देवी, फागुनी देवी, कमल रविदास, शिबू रविदास, मोहन रविदास, राजेश रविदास आदि ग्रामीणों ने मुखिया के प्रति आभार जताया.

इसे भी पढ़ें : जज उत्तम आनंद मौत मामलाः हाईकोर्ट ने डीजीपी को किया तलब, कहा-राज्य में क्या हो रहा है

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: