HazaribaghJharkhand

हजारीबाग : बानादाग साइडिंग में रैयतों और बीजेपी कार्यकर्ताओं में भिड़ंत, कई ग्रामीण घायल

Hazaribagh : कटकमदाग प्रखंड के बानादाग साइडिंग का विरोध पिछले कई वर्षों से हो रहा है. मंगलवार की दोपहर विरोध खूनी संघर्ष में बदल गया. बानादाग साइडिंग अंतर्गत लगे धान की फसल पूरी तरह से बर्बाद हो गयी है. जिसका विरोध रैयत कर रहे थे. यह देख साइडिंग से पीड़ित ग्रामीण और रैयत कुसुंभा पहुंच गये. जहां फसल का मुआवजा देने से मना कर दिया गया. जिसके बाद ग्रामीण और रैयतों ने सदर विधायक वापस जाओ. मनीष जायसवाल मुर्दाबाद जैसे नारे लगाये.

जिले लेकर सदर विधायक के समर्थकों और ग्रामीणों में मारपीट हुई. जिसमें कई ग्रामीणों के घायल होने की सूचना है.

इसे भी पढ़ें: BIG NEWS : अमेरिकी मददगार को तालिबान ने दी मौत, US के हेलिकॉप्टर से लाश लटकाकर उड़ाया, देखें खौफनाक Video

SIP abacus

जिसके बाद बानादाग प्रभावित किसान संघर्ष मोर्चा के बैनर तले कटकमदाग थाना में आवेदन दिया गया. सदर विधायक मनीष जायसवाल के समर्थकों ने भी कटकमदाग थाना में मारपीट को लेकर थाना प्रभारी को आवेदन सौंपा है.

Sanjeevani
MDLM

घटना में ग्रामीण मुकेश कुमार बुरी तरह से घायल हो गये हैं. मुकेश का एक हाथ टूट गया है. उसके साथ ही रिंकू कुमार, प्रमोद कुमार गुप्ता, प्रकाश भाव सहित दर्जनों ग्रामीण और रैयत घायल हो गये हैं. जिनका इलाज शेख भिखारी मेडिकल हजारीबाग में किया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें: क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने 216 करोड़ लेकर की ‘घर वापसी’, मैनचेस्टर यूनाइटेड से किया करार, देखें वीडियो

घायल मुकेश कुमार ने बताया कि हम लोग सदर विधायक मनीष जायसवाल की दोहरी नीतियों के साथ रैयतों को उचित मुआवजा, घर के एक सदस्य को रोजगार सहित अन्य मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे थे. तभी कुसुंबा में मनीष जायसवाल कार्यकर्ताओं ने लाठी और डंडे से हम पर हमला किया.

इसे भी पढ़ें: पीएम आवास योजनाः लंबित आवास को पूरा करने के लिए बदला जा सकता है छत का डिजाइन

Related Articles

Back to top button