HazaribaghJharkhand

Hazaribagh : पीएलएफआइ एरिया कमांडर नन्द किशोर महतो ने की थी कारोबारी नान्हू राणा की हत्या

विज्ञापन

Hazaribagh : पीएलएफआइ एरिया कमांडर नन्द किशोर महतो ने बड़कागांव के कारोबारी नान्हू राणा की हत्या की थी. इस मामले का उस समय खुलासा हुआ जब एसपी कार्तिक एस के निर्देश पर एसआइटी की टीम ने कार्रवाई करते हुए लेवी की योजना बनाते कुख्यात उग्रवादी नंदकिशोर महतो सहित पीएलएफआइ के चार उग्रवादियों को गिरफ्तार किया. गिरफ्तार हुए उग्रवादियों में पीएलएफआइ एरिया कमांडर नन्दकिशोर महतो, पीएलएफआइ महिला विंग की कमांडर काजल विश्वकर्मा, शफीक अंसारी और वीर कुमार रजवार शामिल हैं. पुलिस ने इनके पास से एक देसी कट्टा, तीन गोली सहित कई अन्य सामान बरामद किये.

इसे भी पढ़ें – मोदी काल में अर्थव्यवस्था गर्त में, पहली तिमाही की GDP -23.9 फीसदी, 40 साल में पहली बार गिरावट

कारोबारी से लेवी वसूलने की योजना बना रहे थे उग्रवादी

एसपी कार्तिक एस को गुप्त सूचना मिली थी कि पीएलएफआइ के कुख्यात उग्रवादी एरिया कमांडर नंद किशोर महतो अपने कुछ सहयोगियों के साथ मुफ्फसिल थाना अन्तर्गत हत्यारी के पास लाइन होटल में मीटिंग कर लेवी वसूलने के लिए धमकी देने की तैयारी कर रहे हैं. इस गुप्त सूचना के सत्यापन एवं आवश्यक कार्रवाई के लिए एसआइटी टीम हजारीबाग को निर्देश दिया गया. एसआइटी ने कार्रवाई करते हुए होटल से निकलते समय तीन उग्रवादियों को गिरफ्तार किया.

advt

पीएलएफआइ सुप्रीमो दिनेश गोप और अवधेश जायसवाल के निर्देश पर लेवी वसूलता था

गिरफ्तार हुए उग्रवादियों से पूछताछ के दौरान इन लोगों के द्वारा स्वीकार किया गया कि पीएलएफआइ के सुप्रीमो दिनेश गोप और अवधेश जायसवाल उर्फ चूहा के निर्देश पर पीएलएफआइ के संगठन के लिए कार्य करते हैं. इसी दौरान शफीक अंसारी के द्वारा उपलब्ध कराये गये मोबाइल नंबरों पर धमकी देकर लेवी की मांग करने एवं वसूलने के लिए बैठक कर रहे थे. इन लोगों की स्वीकारोक्ति बयान के आधार पर बोकारो के पेटरवार थाना क्षेत्र के बांधवा टोला से पीएलएफआइ के सदस्य वीर कुमार रजवार को गिरफ्तार किया गया.

इसे भी पढ़ें – पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का निधन, 84 साल की उम्र में ली अंतिम सांस

पीएलएफआइ एरिया कमांडर नंद किशोर महतो ने की थी कारोबारी नान्हू राणा की हत्या

कुख्यात उग्रवादी एरिया कमांडर नंदकिशोर महतो उर्फ महतो के द्वारा बड़कागांव सड़क के दक्षिण से लेकर रामगढ़ जिला क्षेत्र में लेवी वसूलने के लिए दहशत फैलाता था. साथ ही इनके द्वारा बड़कागांव के नान्हू राणा हत्याकांड में अपनी संलिप्तता स्वीकार की गयी. पकड़ाये लोगों के सहयोग से हजारीबाग के बड़कागांव, उरिमारी, गिद्दी एवं केरेडारी, रामगढ़ के पतरातू, भुरकुण्डा, कुज्जू और बोकारो के पेटरवार तथा अन्य क्षेत्रों के कई लोगों को लेवी के लिए धमकी दी गयी थी और लेवी ली गयी थी.

गोली मार कर की गयी थी कारोबारी नान्हू राणा की हत्या

बड़कागांव थाना रोड स्थित एनके प्लाई दुकान के मालिक नान्हू राणा (50 वर्ष) की टैक्सी स्टैंड के पास अज्ञात अपराधियों ने गोली मार कर हत्या कर दी थी. यह घटना बीते 8 मार्च की शाम साढ़े सात बजे की है. नान्हू राणा अपनी दुकान बंद कर बसरिया मोहल्ला स्थित अपने आवास चार पहिया वाहन से जा रहे थे. इसी दौरान अपराधियों ने उन पर गोली चलानी शुरू कर दी. ट्रेकर स्‍टैंड के पास उन्‍हें पेट में गोली लगी. हॉस्पिटल में डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया.

adv

इसे भी पढ़ें – अवमानना केस में फैसला: सीनियर वकील प्रशांत भूषण जमा करेंगे 1 रुपया

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button