HazaribaghJharkhand

हजारीबाग : एचएमसीएच की खराब व्यवस्था को लेकर अधीक्षक डॉ. विनोद कुमार से मिले विधायक मनीष जायसवाल, बदलाव का आश्वासन

Hazaribagh : हजारीबाग मेडिकल कॉलेज अस्पताल सह प्रमंडलीय अस्पताल में स्वास्थ्य व्यवस्था को लेकर हजारीबाग सदर विधायक मनीष जायसवाल ने गुरुवार को एचएमसीएच के अधीक्षक डॉ. विनोद कुमार के कार्यालय कक्ष में उनसे और उपाधीक्षक डॉ.ए.के.सिंह से मुलाकात की. सदर विधायक मनीष जायसवाल ने अस्पताल परिसर के आपातकालीन सेवाओं से संबंधित प्रसूति कक्ष सह वार्ड और ट्रामा सेंटर जैसे संवेदनशील जगहों पर रात्रि में बिजली के आभाव, बिना कारण लगातार मरीजों को रिम्स रेफर करने, रात्रि में जांच घर का कार्य पूर्णतः बाधित रहने, ड्यूटी आवर में चिकित्सकों के फरार रहने, लेबर वार्ड में मरीज के पुरुष परिजनों का जमावड़ा लगे रहने समेत कई मामलो को लेकर प्रबंधन से बात की. इसके साथ ही जल्द से जल्द व्यवस्था में सुधार के निर्देश दिये.

ram janam hospital

एचएमसीएच के अधीक्षक डॉ. विनोद कुमार ने जल्द अस्पताल की व्यवस्था में बदलाव लाने का आश्वासन दिया. एचएमसीएच के अधीक्षक डॉ. विनोद कुमार ने कहा की बिना कारण के अब कोई भी मरीज रेफर नहीं होगा. रात्रि में निर्बाध विद्युत आपूर्ति के लिए लेबर रूम और ट्रॉमा सेंटर में यूपीएस की विशेष व्यवस्था की जायेगी.

इसे भी पढ़ें:झारखंड विधानसभा का शीतकालीन सत्र 16 से 22 दिसंबर तक चलेगा

इमरजेंसी ड्यूटी में लगाये गये लैब कर्मी रात्रि में भी अपनी सेवायें देंगे. ड्यूटी के दौरान चिकित्सक को भी अपनी सेवा देनी होगी.

बेवजह के महिला वार्ड में पुरुषों के भीड़ को रोकने के लिए यहां तैनात पुलिस पिकेट के जवानों को सक्रिय और गतिशील करने के लिए वरीय पुलिस अधिकारियों से बात की जायेगी. मुर्दा घर एक चाबी अस्पताल प्रबंधन के पास ट्रॉमा सेंटर में रहेगी और यहां रखे गए मॉर्चुरी को भी जल्द चालू किया जायेगा.

वार्ता के क्रम में ही चतरा जिले के ढूंढी ग्राम निवासी इलाजरत एक मरीज हरि भुइयां की पत्नी फरियाद लेकर विधायक मनीष जायसवाल से मिली और अपनी ओर से असमर्थता जताते हुए बेहतर इलाज में मदद का आग्रह किया.

इसे भी पढ़ें :BIG NEWS : पहली बार पुरुषों से ज्यादा हुईं महिलाएं, जेंडर रेश्यो में हुआ 10 अंकों का सुधार

विधायक मनीष जायसवाल ने तत्काल आर्थिक सहयोग पहुंचाया और अस्पताल प्रबंधन से आग्रह करके इनके मरीज के लिए एंबुलेंस की व्यवस्था कराकर इन्हें रिम्स भेजवाया.

मरीज हरि भुइयां को न्यूरो के चिकित्सक की आवश्यकता है और चिकित्सकों की राय के बाद उनके बेहतर इलाज के लिए विधायक जायसवाल के सहयोग से रांची भेजा गया.

इसे भी पढ़ें:JPSC रिजल्ट और लाठीचार्ज : दीपक प्रकाश ने कहा- फर्जी मुकदमों के बल पर आवाज दबाना चाहती है हेमंत सरकार

विधायक मनीष जायसवाल ने कहा कि हजारीबाग प्रमंडलीय अस्पताल जिसे अपग्रेड करके हजारीबाग मेडिकल कॉलेज अस्पताल बनाया गया. लोगों की उम्मीद बढ़ी कि यहां सुधार होगा और बेहतर चिकित्सा व्यवस्था उपलब्ध होगी.

विधायक मनीष जायसवाल ने यह भी कहा कि एचएमसीएच प्रबंधन की लापरवाही पर राज्य सरकार गंभीर नहीं है. जिसका नतीजा है यहां की स्वास्थ्य व्यवस्था दिनों दिन गिरती जा रही है. सरकार को भी इसे गंभीरता लेने की जरूरत है.

इसे भी पढ़ें:NewsWing Special : पश्चिमी सिंहभूम में डीएमएफटी और अन्य मदों में लूट का बड़ा खेल, केंद्र बिंदु हैं विशेष प्रमंडल के कार्यपालक अभियंता

Advt
Advt

Related Articles

Back to top button