HazaribaghJharkhandLead News

हजारीबाग माहेश्वरी सुसाइड मामला: जांच के लिए एफएसएल की टीम पहुंची, हत्या और सुसाइड एंगल पर कर रही जांच

Ranchi : चर्चित माहेश्वरी परिवार के छह सदस्यों की रहस्यमयी मौत के मामले में सीआइडी और एफएसएल की टीम हजारीबाग पहुंची. बुधवार को जांच के लिए टीम पहुंची. जांच अधिकारी शुभम अपार्टमेंट पहुंचे और सीन को रीक्रिएट किया. एफएसएल की टीम ने हत्या-आत्महत्या समेत कई एंगल से जांच की, कई अहम सुराग अपने साथ ले गयी. कुछ ही दिनों में टीम रिपोर्ट सौंपेगी. इसके बाद आगे की कार्रवाई की जायेगी. सभी एंगल से इस हाई प्रोफाइल मामले की जांच की जा रही है. जांच टीम मृतक के परिजनों से भी घटना से संबंधित पूछताछ की. सीआइडी टीम को फ्लैट से एक पावर ऑफ अटॉर्नी मिली थी, जिसमें इस फ्लैट की संपत्ति का अधिकार एक पड़ोसी को दे दिया गया था. वह अब सीआइडी के रडार पर है. साथ ही माहेश्वरियों के कारोबार के साथ-साथ आपूर्तिकर्ताओं के साथ उनके संबंधों के बारे में सभी विवरण एकत्र किये हैं. यह भी सामने आया कि उन्होंने करीब 50 लाख रुपये का कर्ज लिया है.

क्या है मामला

14 जुलाई 2018 को खजांची तालाब के पास बने सीडीएम शुभम अपार्टमेंट के तीसरे तल पर कमरा नंबर 303 में रह रहे माहेश्वरी परिवार के 6 लोगों की अलग-अलग स्थिति में शव बरामद किया गया था. मृतक में परिवार के मुखिया महावीर माहेश्वरी, पत्नी किरण माहेश्वरी, उनका बेटा नरेश माहेश्वरी, बहू प्रीति माहेश्वरी, पोता अमन और पोती अन्वी उर्फ परी का शव था. इनमें नरेश माहेश्वरी का अपार्टमेंट के प्रवेश द्वार पर शव पड़ा था. फ्लैट में परिवार के मुखिया महावीर अग्रवाल, पत्नी किरण अग्रवाल और बहू का शव फांसी से लटका हुआ था. वहीं पोता अमन का गला रेता हुआ शव मिला था. पास में ही पोती अन्वी उर्फ परी अग्रवाल का भी शव पड़ा था.

इसे भी पढ़ें – राज्यपाल ने की शिक्षाविदों के साथ बैठक, नयी शिक्षा नीति की प्रगति की जानकारी ली

Related Articles

Back to top button