न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

हजारीबाग : ज्वेलरी शॉप से बंदूक के बल पर 10 लाख से अधिक के जेवरात और एक लाख रुपये कैश की लूट

95

Hazaribagh : हजारीबाग के कोर्रा ओपी क्षेत्र स्थित एसपी आवास से महज 100 मीटर की दूरी पर दीपुगढ़ा में सोनी अलंकार ज्वेलर्स की दुकान में मंगलवार को दिनदहाड़े लूट की घटना को अंजाम दिया गया. अपराह्न करीब तीन बजे आये अज्ञात चार अपराधियों ने बंदूक के बल पर दुकान में लूटपाट की. बताया जा रहा है कि अपराधी 10 लाख रुपये से अधिक की ज्वेलरी लूटकर फरार हो गये.

दुकान संचालक और दो कर्मियों को कब्जे में कर मुंह पर लगा दिया था टेप

मिली जानकारी के अनुसार, दो बाइक पर सवार होकर आये चार अपराधियों ने बंदूक के बल पर दुकान संचालक जितेंद्र सोनी और उनके दो कर्मियों को कब्जे में ले लिया. लुटेरों ने अपना चेहरा ढंक रखा था. बताया जा रहा है कि मौसम खराब होने की वजह से आस-पास की दुकानें बंद थीं. इसका फायदा उठाते हुए अपराधियों ने ज्वेलरी दुकान में प्रवेश किया और अंदर से शटर को बंद कर दिया और दुकान संचालक जितेंद्र सोनी और उनके दो कर्मियों को कब्जे में लेकर सबके मुंह पर टेप लगा दिया. इसके बाद अपराधी दुकान में रखे करीब 10 लाख रुपये के जेवरात और एक लाख रुपये नकद लेकर फरार हो गये.

हजारीबाग : ज्वेलरी शॉप से बंदूक की नोक पर 10 लाख से अधिक के जेवरात और एक लाख रुपये कैश की लूट

सीसीटीवी का डीवीआर बॉक्स साथ ले गये अपराधी

बताया जा रहा है कि अपराधी दुकान का सीसीटीवी का डीवीआर बॉक्स अपने साथ ले गये, ताकि उनकी पहचान नहीं हो सके. इधर, घटना की सूचना मिलने के बाद कोर्रा पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और जांच में जुट गयी. लुटेरों की गिरफ्तारी के लिए हाइवे पर भी जांच अभियान चलाया जा रहा है. दुकान संचालक ने इस संबंध में बताया कि सबकुछ इतना जल्दी हुआ कि उन्हें कुछ समझ में नहीं आया. संभवतः वे कुछ दूरी पर अपने वाहन को लगाकर दुकान तक पैदल ही आये थे.

जल्द गिरफ्तार कर लिये जायेंगे अपराधी : एसपी

हजारीबाग एसपी मयूर पटेल कन्हैया लाल ने बताया कि चार की संख्या में आये अपराधियों ने घटना को अंजाम दिया है. कितने की लूट हुई है, अभी इसका अंदाजा नहीं लगाया जा सका है. पुलिस अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए छानबीन कर रही है. उम्मीद है अपराधियों को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जायेगा.

इसे भी पढ़ें- औसतन तीन माह में एक एसिड पीड़िता पहुंचती है अस्पताल, पुलिस को जानकारी देने से परिजन करते हैं परहेज

इसे भी पढ़ें- 4500 रुपया घूस लेते नगर निगम में कार्यरत टैक्स कलेक्टर गिरफ्तार

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: