न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

हजारीबाग : किराये के मकान से युवती का शव बरामद, हत्या की आशंका

134

Hazaribagh : हजारीबाग कोर्रा थाना क्षेत्र के आनंदपुरी में एक किराये के मकान से युवती का शव बरामद किया गया है. बंद कमरे से दुर्गंध आने पर पड़ोसियों को शक हुआ, तो पुलिस को सूचना दी गयी. मृतका की शिनाख्त चौपारण थाना क्षेत्र के पांडेबारा निवासी उमाकांत पांडे की बेटी रश्मि पांडे के रूप में हुई है. शव को देखते हुए हत्या की आशंका जतायी जा रही है.

एक महीने पहले ही किराये पर लिया था कमरा

बताया जा रहा है कि रश्मि ने मकान मालिक सुनील कुमार के घर में एक महीने पूर्व पति और बच्चे के साथ रहने की बात कहकर भाड़े का रूम लिया था और लगातार अकेली रह रही थी. रश्मि का शव बाहर से ताला बंद कमरे से बरामद किया गया है. शव को देखने से लग रहा है कि हत्या कई दिन पूर्व हुई होगी. मृतका के पिता का कहना है कि रश्मि छह माह पूर्व धनबाद में किसी निजी अस्पताल में डॉक्टर के पास काम करती थी, लेकिन धनबाद से कब हजारीबाग किराये के मकान में रहने आयी थी, उन्हें इसकी जानकारी नहीं.

कमरे से मिले हैं कुछ कागजात, हो रही है जांच

पुलिस का कहना है कि प्रथम दृष्टया प्रतीत होता है कि किसी ने युवती की हत्या कर बाहर से दरवाजे में ताला लगा दिया होगा. शव की हालत देखने और दुर्गंध से प्रतीत होता है कि युवती की हत्या कुछ दिन पूर्व हुई है. युवती जिस कमरे में रहती थी, उस कमरे से पुलिस ने कुछ कागजात, मोबाइल भी बरामद किये हैं, जिनकी जांच की जा रही है.

दूसरे किरायेदारों से भी पुलिस कर रही पूछताछ : एसपी

इधर, हजारीबाग पुलिस अधीक्षक मयूर पटेल ने कहा है कि शहर के भीड़भाड़ वाले इलाके में इस तरह की घटना पुलिस को सकते में डालने जैसी है. पुलिस हर पहलू पर मामले की जांच कर रही है और किराये के मकान में रह रहे अन्य सभी किरायेदारों से पूछताछ कर रही है. जांच के बाद ही कुछ स्पष्ट होगा. पुलिस ने परिजनों को सूचना देकर शव को पोस्टमॉर्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया है.

इसे भी पढ़ें- जनांदोलन के संयुक्त मोर्चा ने उठायी आवाज- विपक्षी गठबंधन में जनांदोलनों की हिस्सेदारी से ही हटाया जा…

इसे भी पढ़ें- राज्य में जादू-टोना, अंधविश्वास के नाम पर होती हैं हर महीने औसतन दो हत्याएं

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: