न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

हजारीबाग : सीएस ललिता वर्मा के पति और अस्पताल कर्मी के ऑडियो मामले में डीसी ने सीएस के आदेश को किया रद्द

96

Hazaribagh : हजारीबाग सिविल सर्जन डॉ ललिता वर्मा के पति डॉ संजीव कुमार वर्मा और सदर अस्पताल के कर्मी अभय कुमार वर्मा के बातचीत का ऑडियो क्लिप वायरल होने से छिड़े विवाद ने सदर अस्पताल से लेकर सरकारी महकमे तक को सकते में डाल दिया है. इस मामले में सीएस डॉ ललिता वर्मा ने सदर अस्पताल के लिपिक अभय कुमार वर्मा को तत्काल प्रभाव से सात मार्च को पत्रांक संख्या 453 के माध्यम से निलंबित करने का आदेश दिया था. उक्त पत्र की प्राप्ति के बाद लिपिक अभय कुमार वर्मा ने उपायुक्त को नौ मार्च को लिखित आवेदन देकर प्रतिक्रिया स्वरूप बदले की भावना से प्रेरित होकर निलंबन आदेश निर्गत किये जाने का उल्लेख किया था. हजारीबाग उपायुक्त रविशंकर शुक्ला ने न्यूज विंग पोर्टल पर खबर प्रसारित होने बाद ज्ञापांक संख्या 1221 के माध्यम से सीएस के पत्रांक संख्या 453 के अवलोकन में कहा है कि श्री कुमार द्वारा सात मार्च के दिये आवेदन के अवलोकन से प्रतीत होता है कि निलंबन किया गया है तथा यह संभव है कि श्री कुमार के आरोप के प्रतिक्रियात्मक उनके विरुद्ध निलंबन आदेश निर्गत किया गया हो. इससे स्पष्ट होता है कि उक्त मामले “Memo Judex in causa sua” तथा “Audi alteram parte” नियम का पालन नहीं करते हुए नैसगिर्क न्याय के सिद्धांतों का उल्लंघ किया गया है. उपरोक्त परिप्रेक्ष्य में मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी हजारीबाग का आदेश पत्रांक संख्या 454 से निर्गत अभय कुमार (लिपिक, सदर अस्पताल) के निलंबन आदेश को तत्काल प्रभाव से रद्द किया गया है. साथ ही पूरे मामले को स्वतंत्र एवं निष्पक्ष जांच के लिए अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी, हजारीबाग को प्राधिकृत किया गया है. साथ ही, उन्हें मामले की जांच कर स्पष्ट प्रतिवेदन 14 दिनों के अंदर सौंपने का आदेश दिया गया है. इधर, हजारीबाग डीसी ने कहा है कि ऑडियो क्लिप मामले को स्वास्थ विभाग के सचिव नितिन मदन कुलकर्णी भेजा गया है, जल्द ही डॉ ललिता और उनके पति डॉ संजीव कुमार वर्मा पर कार्रवाई की जा सकती है.

यह था मामला

विदित हो कि हजारीबाग जिले में पदस्थ सदर अस्पताल की सिविल सर्जन डॉ ललिता वर्मा के पति डॉ संजीव कुमार वर्मा द्वारा सदर अस्पताल के ही कर्मी अभय कुमार वर्मा को अपनी पत्नी डॉ ललिता वर्मा को पैसे पहुंचाने को लेकर 14 मिनट के बातचीत का ऑडियो सोशल मीडिया में वायरल हो गया है. बातचीत में सीएस के पति डॉ संजीव कुमार वर्मा अस्पताल कर्मी अभय कुमार वर्मा को प्रति माह दस हजार रुपये देने का दबाव बना रहे हैं. इस वायरल ऑडियो से सदर अस्पताल से लेकर जिले के सरकारी महकमे में हड़कंप मचा हुआ है. इस मामले के न्यूज विंग में प्रमुखता से प्रकाशित होने के बाद पूरे झारखंड में यह मामला चर्चा का विषय बना हुआ है.

इसे भी पढ़ें- कोचांग में पांच लड़कियों के साथ हुए दुष्कर्म मामले में फादर अल्फांसो को हाई कोर्ट से मिली जमानत

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

hosp22
You might also like
%d bloggers like this: