Crime NewsHazaribaghJharkhand

Hazaribag: वाहन चोरी के बाद नया रजिस्ट्रेशन कराकर बेचने वाले गिरोह के दस अपराधी गिरफ्तार

Hazaribag: अंतरराज्यीय स्कॉर्पियो चोर गिरोह का हजारीबाग पुलिस ने खुलासा करते हुए 10 सदस्यों को गिरफ्तार किया है. ये लोग स्कॉर्पियो की रेकी कर उसकी चोरी करते थे और उसमें इंजन और चेचिस नंबर हटा कर नया रजिस्ट्रेशन कराकर बेचने का काम करते थे.

इन लोगों के पास से पुलिस ने काले रंग की दो स्कॉर्पियो, सफेद रंग की एक स्कॉर्पियो और चोरी में इस्तेमाल की जाने वाली सैंट्रो कार को जब्त किया है. इस बात की जानकारी पुलिस अधीक्षक कार्तिक एस ने प्रेसवार्ता के दौरान दी.

उन्होंने बताया कि गुप्त सूचना के आधार पर चोर गिरोह बाराचट्टी से होकर हजारीबाग की ओर आ रहे हैं. ऐसी सूचना पर चोरदाहा चेकपोस्ट के पास वाहन चेकिंग लगाया गया. चेकिंग के दौरान एक काले स्कॉर्पियो को ड्राइवर द्वारा तेजी से भगाने का प्रयास किया गया. पुलिस बल ने उसे खदेड़ कर पकड़ा जिसमें तीन व्यक्ति थे.

इसे भी पढ़ें :हाल वैक्सीनेशन ड्राइव का : बिना रजिस्ट्रेशन कराये टीका लगा दे रहे कर्मचारी, भुगत रही जनता

पहला बरकट्ठा निवासी दीपक कुमार पिता महेंद्र प्रसाद, मटवारी निवासी विशेष कुमार सोनी पिता किशोर कुमार सोनी व मांडू निवासी रितिक अनुराग पिता नारायण प्रसाद थे.

पकड़े गए व्यक्तियों से रामगढ़, मुफस्सिल, लोहसिंगना एवं पुलिस लाइन से चोरी हुई स्कॉर्पियो गाड़ी के संबंध में पूछताछ हुई. तीनों के बताए अनुसार चोरी के कारण प्रयोग की गयी सैंट्रो कार को हथिया बाबा मंदिर चौपारण से पकड़ा गया जिसमें सवार तीन व्यक्ति बिट्टू सोनार, मोहम्मद मुकीम, रविंद्र कुमार को पकड़ा गया.

वाहन चोर गिरोह के उद्भेदन हेतु पुलिस अधीक्षक द्वारा एक टीम गठित कर स्वरित कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया. जिसके तहत पकड़े गए अपराधियों से गहन पूछताछ की गयी.

इसे भी पढ़ें :ICC Women ODI Ranking: मिताली राज का कमाल, 8वीं बार बनीं दुनिया की नंबर 1 बल्लेबाज

इसी क्रम में सभी लोगों ने अपना अपराध स्वीकार करते हुए बताया कि हजारीबाग, रांची, बोकारो, धनबाद, कोडरमा व गिरिडीह से वाहन की चोरी कर बक्सर ले जाकर शैलेश मिश्रा, धर्मेंद्र चौधरी, चंद्रदीप कुमार को बेचते है.

इस पर उन लोगों को प्रति गाड़ी 5 हज़ार रुपए दिए जाते थे. अपराधियों ने यह भी बताया कि शैलेश मिश्रा धर्मेंद्र चौधरी एवं चंद्रदीप कुमार एवं उनके साथी द्वारा इन गाड़ियों में अवैध दारू को लाने ले जाने का कारोबार किया जाता था. साथ ही वाहन का गलत पेपर बना कर बेच दिया जाता था.

इस संबंध में चौपारण थाना कांड संख्या 245 21 दर्ज किया गया है. पुलिस अधीक्षक कार्तिक एस ने बताया कि स्कॉर्पियो की रेकी व चोरी में मधुबन निवासी बिट्टू सोनार, बरकट्ठा निवासी दीपक कुमार, मुजफ्फरपुर निवासी रविंद्र कुमार, मटवारी निवासी विशेष कुमार सोनी, मांडू निवासी रितिक अनुराग व मुजफ्फरपुर निवासी मो मुकीम द्वारा की जाती थी.

इसे भी पढ़ें :18 साल के अथर्व की मेमोरी है कमाल की, 91 देशों के राष्ट्रगान याद,100 करने का है टारगेट

वहीं शैलेश मिश्र और नालंदा निवासी राजेश कुमार द्वारा गाड़ी का गलत पेपर बनाने का काम किया जाता था. और गाड़ियों को खरीदने का काम धर्मेंद्र चौधरी चंद्रदीप कुमार और राजेश कुमार द्वारा किया जाता था.

पकड़े गए अपराधियों में बिट्टू सोनार, दीपक कुमार, विशेष कुमार सोनी, मो मुकीम व राजेश कुमार के पहले से भी कई अपराधिक इतिहास रहे हैं. पुलिस ने सभी अपराधियों को उचित कानूनी कार्रवाई करते हुए जय प्रकाश नारायण केंद्रीय कारा भेज दिया है.

इसे भी पढ़ें :बाढ़ का कहरः बीमार बच्चे को कंधे पर उठा कर 8 किलोमीटर तक चलता रहा पिता, नवजात को लेकर मां भी पानी की तेज धार में चलती रही

Related Articles

Back to top button