JharkhandRanchi

हटियाः नवीन जायसवाल को लेकर बीजेपी में असमंजस, पुराने कार्यकर्ता पर पार्टी जता सकती है भरोसा

Pravin Kumar

Jharkhand Rai

Ranchi: भाजपा विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुट गई है. पार्टी सीटिंग विधायकों की लोकप्रियता और क्षेत्र में पकड़ जानने के लिए सर्वे भी करा रही है. पहले चरण के सर्वे के अनुसार पार्टी के कई विधायकों का टिकट कटना तय माना जा रहा है. रांची जिला से भाजपा के दो विधायकों के टिकट कटने की संभावना है, जिनमें से एक हटिया विधायक नवीन जायसवाल का नाम भी सामने आ रहा है. सूत्रों के मुताबिक आगामी झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा ने अपना चुनाव प्रभारी और सह चुनाव प्रभारी भी चुन लिया है. साथ ही पार्टी राज्य में मोदी मैजिक को भुनाते हुए इस बार विधानसभा चुनाव में भी कई नये चेहरों को मैदान में उतारेगी.

इसे भी पढ़ें – भारत में भी मंदी के आसार! पीएम मोदी ने वित्त मंत्री सीतारमण से की मंत्रणा

वो वजहें जिनसे कट सकता है नवीन जायसवाल का टिकट

भाजपा में शामिल होने के बाद नवीन जायसवाल को मंत्री पद की उम्मीद थी, जो पूरी नहीं हो सकी. वहीं दूसरी ओर संगठन के सूत्रों का मानना है नवीन जयसवाल ने अपने विधानसभा क्षेत्र में समानांतर संगठन बना रखा है जिस कारण भाजपा के पुराने कार्यकर्ता नवीन जयसवाल की जगह भाजपा कैडर को टिकट देने की वकालत कर रहे हैं. वहीं आजसू-भाजपा गठबंधन जो तय माना जा रहा है, इस कारण भी नवीन जायसवाल की मुश्किलें बढ़ सकती हैं. इनके रास्ते की सबसे बड़ी दिक्कत आनेवाले दिनों में सीमा शर्मा बनने जा रही हैं.

Samford

सूत्रों की मानें तो हटिया से टिकट की दावेदारी को लेकर मुश्किल को देखते हुए रांची जिला की दूसरे सीट पर नवीन जायसवाल नजर रखे हुए हैं. सूत्रों के अनुसार अगर विधायक नवीन जायसवाल को भाजपा हटिया से टिकट नहीं देती तो इनके सामने दो विकल्प हो सकते हैं. नवीन जायसवाल के समक्ष विकल्प के रूप में रांची जिला की कोई दूसरी सीट हो सकती है. इसके पीछे सीएम से उनकी नजदीकी बतायी जा रही है. वहीं दूसरे विकल्प के रूप में  उनके सामने दूसरे दल से चुनाव लड़ना है.

इसे भी पढ़ें – जम्मू-कश्मीर मसला :  पाकिस्तान यूएन में  बैकफुट पर, नौ देशों ने नहीं दिया समर्थन

हटिया विधानसभा सीट पर पार्टी के कई नेताओं की है नजर

हटिया विधानसभा सीट पर भाजपा से टिकट पाने की जुगाड़ में दो दर्जन से अधिक नेता लगे हैं. इनमें से जो प्रमुख नाम सामने आ रहे हैं, उनमें 2014 में नवीन जायसवाल से पराजित होनेवाली सीमा शर्मा का नाम प्रमुख है. 2014 के विधानसभा चुनाव में नवीन जायसवाल ने 88,228 वोट लकर चुनाव जीता था, वहीं सीमा शर्मा को 80,210 वोट मिले थे. वहीं अन्य प्रबल दावेदारों के रूप में दीपक प्रकाश, सुबोध सिंह गुड्डू का नाम भी उभर रहा है. सभी दावेदार अपने टिकट की जुगड़ में लग गये हैं. लोकसभा चुनाव में भी भाजपा ने अपने चार सांसदों का टिकट काटा था. इसे देखते हुए कई दावेदारों को उम्मीद है कि उन्हें टिकट मिल सकता है.

नवीन जायसवाल का पहले भी आजसू ने टिकट काटा था

2014 के विधानसभा चुनाव में आजसू का भाजपा से गठबंधन होने के बाद नवीन जायसवाल का आजसू की तरफ से टिकट काट दिया गया था. टिकट नहीं मिलने पर नवीन जायसवाल झाविमो की शरण में चले गये. विधानसभा चुनाव में झाविमो के टिकट पर नवीन जायसवाल ने हटिया विधान सभा क्षेत्र से अपनी जीत दर्ज की. जब प्रदेश में भाजपा के नेतृत्व में सरकार बन गयी तब नवीन जायसवाल रघुवर सरकार के सम्पर्क में थे और उचित समय पर झाविमो के विधायकों को गोलबंद कर भाजपा में जा मिले.

इसे भी पढ़ें – गिरिडीह : दादा ने 16वर्षीया पोती को गला दबाकर मार डाला, बेटे से चल रहा जमीन विवाद

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: