Main SliderOpinion

क्या बिहार सरकार पटना में हुई घटना की जांच की इजाजत दूसरे राज्य की पुलिस को देने लगी है !

Surjit Singh

Jharkhand Rai

एक्टर सुशांत सिंह की मौत पर दिल्ली के वरिष्ठ पत्रकार नरेंद्र नाथ मिश्र ने कुछ दिन पहले एक ट्वीट किया था. कुछ एक्टर्स, मीडिया व राजनीति ने उनकी मौत को “गींज” दिया. यह बिहार में बोला जाने वाला शब्द है. जिसका अर्थ होता है किसी बात या घटना को बहुत ही खराब कर देना.

अब देखिये, इस केस में क्या हुआ. सुशांत की मौत के बाद नेपोटिज्म का सवाल उठा. कंगना रनौत समेत कई एक्टर्स ने इस पर खूब वीडियो वायरल किया. टीवी चैनलों ने खूब दिखाया. बिहारियों ने इसका खूब सपोर्ट किया. ट्विटर पर ट्रेंड हुआ. अब 7 अगस्त को बिहार सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में जो कहा, उसके अनुसार यह मामला Boy Friend, Girl Friend और Money से जुड़ा हुआ है.

इसे भी पढ़ें- तो क्या पीएम मोदी ने चीनी घुसपैठ पर “देश से झूठ” बोल कर चीन को फायदा पहुंचाया!

Samford

तो अब नेपोटिज्म कहां चला गया. जिन डाइरेक्टर-एक्टर को एक माह पहले तक निशाना बनाया गया, उनका क्या कसूर था. क्यों उन्हें डिप्रेशन में लाया गया.

ये बातें पुरानी हो चुकी. नेपोटिज्म के बाद बिहार के नेताओं ने मामले की सीबीआइ जांच का मुद्दा उठाया. बिहारियों ने खूब समर्थन दिया. सुशांत के पिता ने पटना पुलिस को एक लिखित कंप्लेन दिया. जिसमें कहा कि सुशांत की मौत के लिये उनकी गर्ल फ्रेंड रही रिया चक्रवर्ती जिम्मेदार है. पुलिस ने इस पर प्राथमिकी दर्ज कर ली. बिहार पुलिस ने जांच के लिये एक टीम को मुंबई भेज दिया. बिहार पुलिस के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय रोज टीवी स्क्रिन पर दहार रहे हैं. इस बीच बिहार सरकार ने मामले की सीबीआइ जांच की शिफारिश कर दी. सीबीआइ ने प्राथमिकी दर्ज कर जांच भी शुरु कर दी है.

इसे भी पढ़ें- कोरोना काल में देश के बुद्धिजीवियों व वामपंथियों ने निराश किया, जिम्मेदारी नहीं निभाई

ऐसे में एक कानूनी सवाल खड़ा हो गया है. जिसका जवाब आगे चल कर बिहार सरकार, बिहार पुलिस और सीबीआइ को भी देना पड़ेगा. सवाल यह उठ खड़ा हुआ है आखिर बिहार की पुलिस ने किस कानून के तहत प्राथमिकी दर्ज कर ली. क्योंकि सुशांत सिंह राजपूत की मौत का घटनास्थल तो मुंबई है और वहां इसकी प्राथमिकी भी दर्ज है.

इससे भी बड़ा सवाल यह उठ रहा है कि अगर पटना में कोई घटना हो जाए, जिसकी प्राथमिकी पटना में दर्ज है. पीड़ित व्यक्ति किसी दूसरे राज्य का है. मसलन यूपी, दिल्ली या केरल का. उसके परिवार वाले अपने गृह राज्य के थाना में आवेदन देते हैं. तो क्या बिहार पुलिस उस राज्य की पुलिस को पटना आकर उसी मामले की जांच करने की इजाजत दे देगी. वह भी तब जब पटना में उसी मामले में प्राथमिकी दर्ज है.

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय को इसका जवाब देना चाहिये. यह भी बताना चाहिये कि क्या बिहार सरकार व वहां की पुलिस बिहार के ही किसी दूसरे जिले में हुई किसी घटना की प्राथमिकी बिहार के ही किसी दूसरे जिला या थाना में दर्ज करने की इजाजत दे रखी है.

सोशल मीडिया पर गरजने वाले भी जरा अपने इलाके के थाना में जाकर पूछ लें कि क्या वह बगल के थाना क्षेत्र में हुई घटना की प्राथमिकी दर्ज कर सकते हैं. जवाब मिल जायेगा. ऐसे मामले में संबंधित थाना आवेदन को उस थाने में भेज देती है, जहां घटना हुई है.

इसे भी पढ़ें- अमर सिंह जैसी शख्सियत का ठीक से कंडोलेंस नहीं हुआ

चलिये, कुछ देर के लिये मान लिया जाये कि मुंबई पुलिस के द्वारा बिहार की पुलिस को जांच की इजाजत दे भी दी जाती. तो बिहार पुलिस क्या करती. बिहार पुलिस मामले में चार्जशीट कहां दाखिल करती? बिहार की अदालत में या मुंबई की अदालत में? क्या एक ही घटना के लिए दो अदालतों में चार्जशीट दाखिल हो पाता. और दोनों राज्यों की अदालत में ट्रायल चल पाना संभव है.

हद, तो यह हो गयी है कि बिहार पुलिस ने जो प्राथमिकी दर्ज की, उसी के आधार पर बिहार की सरकार ने मामले को सीबीआइ को ट्रांसफर कर दिया. और गृह मंत्रालय ने उसे स्वीकार भी कर लिया. तो अब क्या इसी मामले में सीबीआई अलग चार्जशीट दाखिल करेगी और मुंबई पुलिस अलग. एक ही आरोपी के खिलाफ दोनों की चार्जशीट पर अलग-अलग अदालत सुनवाई करेगी और अलग-अलग सजा भी सुनायेगी.
कल को यही सारे सवाल उपरी अदालत में अभियुक्त के बचाव का हथियार बन जायेगा. यही सवाल सुप्रीम कोर्ट में उठेगा.
तो क्या यह लीगल प्वाइंट बिहार के डीजीपी को नहीं पता. और अगर पता है तो क्या वह सुशांत के नाम पर हो रही राजनीति का मोहरा बन चुके हैं.

Advertisement

10 Comments

  1. Thanks for finally talking about > क्या बिहार सरकार पटना में हुई घटना की जांच
    की इजाजत दूसरे राज्य की पुलिस को देने लगी है !
    – NEWSWING < Liked it!

  2. Simply want to say your article is as astounding. The clearness to your publish is simply
    cool and i could assume you are a professional in this subject.

    Well with your permission allow me to grab your RSS feed to keep updated with impending post.
    Thanks 1,000,000 and please keep up the enjoyable work.

  3. Good way of describing, and fastidious paragraph
    to take data on the topic of my presentation focus, which
    i am going to convey in school. cheap flights y2yxvvfw

  4. Today, I went to the beach front with my children. I found a
    sea shell and gave it to my 4 year old daughter and said “You can hear the ocean if you put this to your ear.”
    She put the shell to her ear and screamed.
    There was a hermit crab inside and it pinched her ear.
    She never wants to go back! LoL I know this is completely off
    topic but I had to tell someone!

  5. Hi there I am so grateful I found your website, I really found you by error, while I was searching on Bing for something
    else, Anyways I am here now and would just like to say thanks for a
    tremendous post and a all round exciting blog (I also love the theme/design), I don’t have time to read it all at the moment but I have saved it and also added your RSS feeds, so when I have time I will be back to read a lot more, Please do
    keep up the excellent b.

  6. I’m really impressed with your writing skills as well as with the layout on your weblog.
    Is this a paid theme or did you customize it yourself?
    Either way keep up the nice quality writing, it is rare to see a nice blog like this one nowadays.
    adreamoftrains web host

  7. You are so cool! I don’t suppose I have read through
    something like that before. So nice to find someone with a
    few unique thoughts on this topic. Seriously..
    thank you for starting this up. This site is one thing that is needed on the web, someone with some originality!

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: