National

#Haryana: आज शपथ ले सकते हैं खट्टर, जेजेपी के साथ मिलकर सरकार बना रही बीजेपी

New Delhi: मनोहर लाल खट्टर एकबार फिर हरियाणा की कमान संभालेंगे. खबर है कि शनिवार को वो मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. बीजेपी नेता शनिवार को राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य से मुलाकात करेंगे और सरकार बनाने का दावा पेश कर सकते हैं.

गौरतलब है कि बीजेपी के जेजेपी साथ मिलकर सरकार बना रही है. केंद्रीय गृह मंत्री और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने शुक्रवार को दिल्ली में कहा कि हरियाणा में मुख्यमंत्री बीजेपी और उपमुख्यमंत्री जेजेपी से होगा. उन्होंने कहा कि मनोहर लाल खट्टर एक बार फिर से मुख्यमंत्री बनेंगे.

इसे भी पढ़ेंःBJP का ‘बेटी बचाओ गैंग’ निर्लज्ज, रेपिस्ट को किया शामिल: कांग्रेस

बीजेपी का सीएम, जेजेपी का डिप्टी सीएम

40 सीटें जीतने के बाद बीजेपी अब जेजेपी के साथ गठबंधन में सरकार बना रही है. गठबंधन के तहत बीजेपी के खट्टर सीएम होंगे. जबकि विस चुनाव में 10 सीटें जीतने वाली जननायक जनता पार्टी से उप मुख्यमंत्री होगा.
वहीं, कांग्रेस ने गठबंधन पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि जेजेपी हमेशा भाजपा की ‘बी टीम’ ही रहेगी.

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने जेजेपी नेता दुष्यंत चौटाला के साथ आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि मुख्यमंत्री भाजपा से और उपमुख्यमंत्री क्षेत्रीय दल जेजेपी से होगा.

सूत्रों ने कहा कि हरियाणा के वर्तमान मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के शनिवार को चंडीगढ़ में आयोजित एक बैठक में भाजपा विधायक दल का नेता चुने जाने की उम्मीद है. खट्टर उसके बाद सरकार बनाने के लिए राज्यपाल के समक्ष दावा पेश करेंगे. चौटाला के उपमुख्यमंत्री बनने की उम्मीद है.

शाह ने संवाददाताओं से कहा, ‘हरियाणा में मतदाताओं के जनादेश के साथ जाते हुए दोनों पार्टियों ने निर्णय किया है कि भाजपा और जेजेपी साथ मिलकर सरकार बनाएंगी. मुख्यमंत्री भाजपा से होगा जबकि उप मुख्यमंत्री जेजेपी से होगा.’

उन्होंने कहा कि गठबंधन जनादेश की भावना के अनुरूप है. संवाददाता सम्मेलन में शाह और चौटाला के अलावा खट्टर और भाजपा के अन्य नेता मौजूद थे.

इसे भी पढ़ेंः12 विधानसभा सीटें जो बनेंगी बीजेपी लिए सिरदर्द, 2014 चुनाव के नंबर वन और टू हो चुके हैं भाजपाई

स्थिरता के लिए गठबंधन जरूरी- चौटाला

चौटाला ने कहा कि उनकी पार्टी का मानना है कि हरियाणा में स्थिरता के लिए गठबंधन जरूरी था. भाजपा का चौटाला को अपने पाले में लाने का निर्णय जाटों को तुष्ट करने की उसकी इच्छा को रेखांकित करता है जिससे कि उसकी सरकार सुचारू तरीके से चल सके.

राज्य में प्रभावी जाट समुदाय के बारे में माना जाता है कि उन्होंने हाल के चुनावों में भाजपा के खिलाफ वोट किया. खट्टर ने कहा कि दोनों पार्टियां पहले भी एक साथ काम कर चुकी हैं.

सूत्रों की मानें तो अमित शाह को जानकारी मिली थी कि हरियाणा में भाजपा बहुमत से दूर रह सकती है और इसके मद्देनजर उन्होंने नतीजे आने से पहले ही चौटाला से बात की थी.

सात निर्दलियों का भी मिला साथ

गुरुवार को हरियाणा विधानसभा चुनाव की मतगणना में भाजपा को 40 सीटें मिलने के बाद पार्टी के शीर्ष नेता सक्रिय हो गए थे. भाजपा का सीटों का आंकड़ा बहुमत से छह कम रह गया था. हालांकि, सात निर्दलीय विधायकों ने भी भाजपा को समर्थन की घोषणा की है.

भाजपा नेताओं को भरोसा है कि इंडियन नेशनल दल (इनेलो)के एकमात्र विधायक अभय चौटाला भी सरकार का समर्थन करेंगे. जेजेपी के साथ आने से यह भी सुनिश्चित होगा कि भाजपा को सरकार के बनाए रखने के लिए निर्दलीयों पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा.

इसे भी पढ़ेंः#Jamshedpur : ब्राउन शुगर की तस्करी का हब बना आदित्यपुर, करोड़ों का कारोबार

भाजपा के हरियाणा प्रभारी अनिल जैन से बताया कि शनिवार को होने वाली पार्टी विधायक दल की बैठक में केंद्रीय मंत्री निर्मला सीतारमण और भाजपा महासचिव अरुण सिंह केंद्रीय पर्यवेक्षक के तौर पर शामिल होंगे.

जेजेपी बीजेपी की ‘बी’ टीम- कांग्रेस

इस बीच कांग्रेस ने जेजेपी के भाजपा से गठबंधन की आलोचना की है. पार्टी प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने ट्वीट किया, ‘ आख़िर ‘ढोल की पोल’ खुल ही गई. जेजेपी-लोकदल भाजपा की ‘बी’ टीम थे, है और सदैव रहेंगे. जब भाजपा को समाज का बंटवारा कर सत्ता हासिल करनी हो तो कभी राजकुमार सैनी और कभी जेजेपी-लोकदल कठपुतली बन साथ खड़े हो जाएंगे. जनता अब तो असलियत जान गई है व पहचान गई है.’

एक अन्य ट्वीट में सुरजेवाला ने कहा, ‘सच्चाई ये है कि खट्टर सरकार को जनता ने जनमत से दरकिनार किया. सच्चाई ये भी है की जेजेपी-भाजपा के खिलाफ लोगों से जनमत मांग 10 विधायक जीत कर आई. सच्चाई ये भी है की जेजेपी ने वायदा किया कि कभी भाजपा से गठबंधन नहीं करेंगे. सच्चाई ये भी है की सत्ता की ड्योढ़ी कसमों-वादों से बड़ी हो गई.’

इसे भी पढ़ेंः#Burnpur : दीपावली पर धनवर्षा, आइएसपी के 1060 अधिकारियों को मिलेंगे सात करोड़

Related Articles

Back to top button