न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

हरियाणा :  27 साल में आईएएस खेमका का 52वां ट्रांसफर,घोटाले उजागर करते हैं,  नेताओं को नहीं भाते

उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा, किसके हितों की रक्षा करूं? तुम्हारा या उनका जिनका आप प्रतिनिधित्व का दावा करते हैं? दम्भ है हमें पैरों तले रौंदोगे.

265

NewDelhi :  हरियाणा कैडर के वरिष्ठ आईएएस अधिकारी अशोक खेमका का एक बार फिर तबादला हो गया है. बता दें कि हरियाणा सरकार ने 1991 बैच के वरिष्ठ नौकरशाह अशोक खेमका समेत नौ आईएएस अधिकारियों के तत्काल प्रभाव से स्थानांतरण का आदेश रविवार को जारी किये. बता दें कि कांग्रेस नेता सोनिया गांधी के दामाद राबर्ट वाड्रा के जमीन सौदे के मामले को लेकर अशोक खेमका चर्चा में आये थे.  खेल और युवा मामलों के विभाग के प्रधान सचिव अशोक खेमका को विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग के प्रधान सचिव बना कर भेजा गया है. वहां उन्हें पूर्व में भी तैनात किया जा चुका है. लगभग 15 माह पूर्व  खेल और युवा मामलों के विभाग में तैनात  आईएएस अधिकारी खेमका का अब तक उनके कैरियर में 50 बार से अधिक बार तबादला किया जा चुका है.  गिनती करें तो यह अशोक खेमका का यह 52वां तबादला है.

इसे भी पढ़ें –  हमें राष्ट्रवाद पर ज्ञान न दे भाजपा,  मुझे भारतीय होने पर गर्व है : ममता बनर्जी

Sport House
Related Posts

#Shabana_Azmi की कार ट्रक से जा टकरायी,  गंभीर रूप से घायल अभिनेत्री अस्पताल में भर्ती

बॉलिवुड की प्रसिद्ध अभिनेत्री शबाना आजमी के मुंबई-पुणे एक्सप्रेस-वे पर सड़क दुर्घटना में घायल होने की खबर है.

52वें तबादले के बाद अशोक खेमका ने ट्विटर पर बात रखी

52वां तबादले के बाद अशोक खेमका ने ट्विटर पर अपनी बात रखी है.  बता दें कि आईएएस अधिकारी अशोक खेमका ने मंगलवार को टि्वटर पर अपने तबादले को लेकर लोगों के सवालों के जवाब दिये. उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा, किसके हितों की रक्षा करूं? तुम्हारा या उनका जिनका आप प्रतिनिधित्व का दावा करते हैं? दम्भ है हमें पैरों तले रौंदोगे. शौक से, कई बार सहा है, एक बार और सही. खेमका का ट्वीट उनके रविवार को हुए तबादले के दो दिन बाद आया है.  अशोक खेमका 1991 बैच के हरियाणा काडर के  आईएएस हैं. 27 साल में 52 बार ट्रांसफर हो चुका है. गुरुग्राम में सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा की जमीन सौदे से जुड़ी जांच के कारण अशोक खेमका सुर्खियों में रहे. कहा जाता है कि अशोक खेमका जिस भी विभाग में जाते हैं, वहीं घपले-घोटाले उजागर करते हैं, जिसके चलते अक्सर उन्हें ट्रांसफर झेलना पड़ता है.

भूपिंदर सिंह हुड्डा के शासनकाल में बतौर व्हिसिल ब्लोवर कई घोटालों का खुलासा कर चुके हैं. अशोक खेमका पश्चिम बंगाल के कोलकाता में पैदा हुए. फिर आईआईटी खड़गपुर से 1988 में बीटेक किया और बाद में कंप्यूटर साइंस में पीएचडी की. बिजनेस एडिमिनिस्ट्रेशन में उनके पास एमबीए की डिग्री भी है.

इसे भी पढ़ें –  कर्मचारियों का वेतन पिछले साल से अधिक बढ़ेगा,  लेकिन बढ़ोत्तरी सिंगल डिजिट में ही : सर्वे

Vision House 17/01/2020
Mayfair 2-1-2020
SP Deoghar

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like