NationalTop Story

हरियाणा सीएम ने कहा- अब हम भी ला सकेंगे कश्मीरी बहू, बयान पर भड़की दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष

New Delhi: कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा हटने के बाद यूपी के बीजेपी विधायक के बाद हरियाणा के सीएम का विवादित बयान सामने आया है.

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा है कि अब हम भी कश्मीरी बहू ला सकेंगे. दरअसल, शुक्रवार को कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद कश्मीरी लड़कियों पर उन्होंने इस तरह का विवादित बयान दिया था.

सीएम के इस बयान की दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कड़ी निंदा की. उन्होंने इसे सड़क छाप रोमियो वाली भाषा बताया है.

advt

क्या कहा सीएम खट्टर ने

फतेहाबाद में शुक्रवार को भगवान महर्षि भागीरथ जयंती पर आयोजित एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री खट्टर ने बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान के विषय पर चर्चा करते हुए हरियाणा में लिंगानुपात 933 होने की चर्चा की.

इसे भी पढ़ेंःजिस तरह अजय कुमार ने इस्तीफा दिया, उसके तार कहीं BJP की जमशेदपुर पश्चिमी सीट से तो नहीं जुड़े !

साथ ही मुख्यमंत्री ने लिंगानुपात कम होने के कारण लड़कियों की कमी पर चर्चा करते हुए कहा कि हमारे मंत्री धनखड़ (हरियाणा के कृषि मंत्री ओम प्रकाश धनखड़) पहले कहते थे कि बिहार से बहू लाएंगे, लेकिन अब लोग कहते हैं कि कश्मीर का रास्ता बन गया है और अब कश्मीर से लड़की लाएंगे.

हालांकि बाद में सीएम मनोहरलाल खट्टर ने अपने इस विवादित बयान को मजाक के तौर पर लेने की बात कहते हुए कहा कि यह मजाक की बात है.

adv

शर्म आनी चाहिए- मालीवाल

इधर मुख्यमंत्री के इस विवादास्पद बयान पर दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल काफी भड़की नजर आयीं. ट्विटर पर अपने गुस्से का इजहार कर लिखा कि सीएम को शर्म आनी चाहिए. मुख्यमंत्री सड़क छाप रोमियो की भाषा बोल रहे हैं.

इसे भी पढ़ेंःइतिहासकार हबीब ने जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370  हटाने की आलोचना की, कहा,  संघ परिवार कश्मीरी  मुसलमानों पर हमले कर रहा था


अध्यक्ष मालीवाल ने कहा कि एक ओर प्रधानमंत्री कश्मीर के लोगों को ये विश्वास दिलाने में लगे हैं कि पूरा देश उनके साथ है. वहीं एक नालायक मुख्यमंत्री अभद्र बातें बोलकर हिंसा भड़का रहा है. इनके खिलाफ एफआइआर दर्ज होनी चाहिए.

गौरतलब है कि इससे पहले यूपी के मुजफ्फरनगर के खतौली से बीजेपी विधायक विक्रम सिंह सैनी ने भी इसी तरह का विवादित बयान दिया था.

उन्होंने कहा था, ‘अनुच्छेद 370 को खत्म करने से पार्टी के कार्यकत्ता काफी उत्साहित थे, क्योंकि अब वे गोरी कश्मीरी लड़कियों से शादी कर सकेंगे. अब भाजपा के अविवाहित कार्यकर्ता कश्मीर में जमीन खरीदने के साथ ही वहां की लड़कियों से शादी कर सकते हैं.’

इसे भी पढ़ेंःहजारीबाग : सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़, एक नक्सली ढेर

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button