Khas-KhabarNational

सांसदों के लिए चाय लेकर पहुंचे हरिवंश, तारीफ में बोले पीएम- बिहार लोकतंत्र का पाठ सिखाता रहा है

एनडीए नेताओं ने हरिवंश सिंह के साथ हुए दुर्व्यवहार को बिहार की अस्मिता से जोड़ा

विज्ञापन

New Delhi/Patna: कृषि बिल और निलंबित सांसदों पर जहां राजनीति पूरी तरह से गरमायी हुई है. वहीं मंगलवार सुबह राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश सिंह धरने पर बैठे सांसदों के लिए चाय लेकर पहुंचे. उनके इस पहल की पीएम मोदी ने तारीफ की है. हालांकि, उपसभापति विपक्षी सांसदों के व्यवहार से दुखी हो खुद एक दिन के उपवास पर बैठे हैं.

इसे भी पढ़ेंः राज्यसभाः कल से धरने पर बैठे निलंबित 8 सांसदों के लिए चाय लेकर पहुंचे उपसभापति, खुद उपवास पर हरिवंश

हरिवंश सिंह की तारीफ

प्रधानमंत्री मोदी ने इस मामले को लेकर सिलसिलेवार ट्वीट कर उपसभापति की तारीफ की है. उन्होंने कहा कि, ‘हर किसी ने देखा कि दो दिन पहले लोकतंत्र के मंदिर में उनको किस प्रकार अपमानित किया गया, उन पर हमला किया गया और फिर वही लोग उनके खिलाफ धरने पर भी बैठ गए. लेकिन आपको आनंद होगा कि आज हरिवंश जी ने उन्हीं लोगों को सवेरे-सवेरे अपने घर से चाय ले जाकर पिलाई.‘

advt

adv

अपने अगले ट्वीट में पीएम ने उपसभापति हरिवंश की तारीफ में कहा कि, ‘यह हरिवंश जी की उदारता और महानता को दर्शाता है. लोकतंत्र के लिए इससे खूबसूरत संदेश और क्या हो सकता है. मैं उन्हें इसके लिए बहुत-बहुत बधाई देता हूं.‘

‘बिहार लोकतंत्र का पाठ सिखाती है’

वहीं इस पूरे मामले को प्रधानमंत्री ने बिहार की राजनीति से जोड़ दिया है. उन्होंने अपने ट्वीट के जरिये कहा कि बिहार देश को लोकतंत्र का पाठ सिखाती है.

पीएम ने ट्वीट किया, ‘बिहार की धरती ने सदियों पहले पूरे विश्व को लोकतंत्र की शिक्षा दी थी. आज उसी बिहार की धरती से प्रजातंत्र के प्रतिनिधि बने श्री हरिवंश जी ने जो किया, वह प्रत्येक लोकतंत्र प्रेमी को प्रेरित और आनंदित करने वाला है.‘

मालूम हो कि रविवार को उच्च सदन में कृषि संबंधी विधेयकों को पारित किए जाने के दौरान अमर्यादित व्यवहार के कारण इन सदस्यों को सोमवार को शेष सत्र के लिए निलंबित किया गया है. इस कदम के विरोध में आठों निलंबित सदस्य संसद भवन परिसर में ही अनिश्चितकालीन धरने पर बैठ गए. प्रदर्शन पर बैठे निलंबित सदस्यों के लिए उपसभापति हरिवंश अपने घर से चाय लेकर पहुंचे थे. निलंबित किए गए आठ सदस्यों में कांग्रेस, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा), तृणमूल कांग्रेस और आम आदमी पार्टी (आप) के सदस्य शामिल हैं.

इसे भी पढ़ेंः सुशील श्रीवास्तव हत्याकांड के दोषियों की सजा आज होगी तय, विकास तिवारी समेत पांच पाये गये हैं दोषी

बिहार की अस्मिता को ठेस पहुंचायी- एनडीए

रविवार को सदन में उपसभापति के साथ हुई अभद्रता को एनडीए ने बिहार की अस्मिता से जोड़ दिया है. एनडीए के शीर्ष नेताओं ने सोमवार को कहा कि संसद के उच्च सदन में कृषि विधेयकों को पारित करने के दौरान उप सभापति हरिवंश के साथ किये गये दुव्यर्वहार ने बिहार के गौरव को ठेस पहुंचाया है और इसके लिये राज्य के लोग विपक्षी दलों को मुंहतोड़ जवाब देंगे.

बिहार के मुख्यमंत्री एवं जेडीयू प्रमुख नीतीश कुमार ने कहा कि राज्यसभा में रविवार को जो कुछ भी हुआ वह बहुत गलत और निंदनीय है. वहीं, राज्य के उप मुख्यमंत्री एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने डिजिटल कार्यक्रम में कहा कि राज्यसभा में विपक्ष के दुर्व्यवहार और हरिवंश के खिलाफ किये गये अशोभनीय बर्ताव का बिहार के लोग विपक्षी दलों को मुंहतोड़ जवाब देंगे. सुशील ने कहा कि हरिवंश बिहार और पूरे देश के एक सम्मानित व्यक्ति हैं और इस घटना से राज्य की प्रतिष्ठा को ठेस लगी है.

इस बीच, केंद्रीय मंत्री एवं बिहार से भाजपा के वरिष्ठ नेता रविशंकर प्रसाद ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘बिहार के रहने वाले एक प्रख्यात भारतीय का अपमान किया गया. बिहार के लोग इसका जवाब देंगे. बिहार के विपक्षी दलों को इसका जवाब देना होगा. बिहार के लोग बहुत आहत हुए हैं.’

उल्लेखनीय है कि हरिवंश भी सुशांत की तरह राजपूत समुदाय से आते हैं. बिहार में चुनाव समीकरण में जाति एक प्रमुख भूमिका निभाती रही है. उल्लेखनीय है कि हरिवंश, बिहार से जनता दल (यूनाइटेड) के राज्यसभा सदस्य हैं.
राज्य में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं और निर्वाचन आयोग द्वारा इसके कार्यक्रमों की घोषणा शीघ्र किये जाने की संभावना है. बिहार में एनडीए में नीतीश नीत जेडीयू, भाजपा और लोक जनशक्ति पार्टी शामिल हैं.

इसे भी पढ़ेंः दिल्ली दंगाः पुलिस ने चार्जशीट में कहा- साजिश को अंजाम देने के लिए 5 लोगों को मिले थे 1.61 करोड़

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button