JharkhandLead NewsRanchi

हाल-ए-रिम्स: नहीं मिला एलिजिबल सुपरिटेंडेंट, अब नेशनल लेवल पर वैकेंसी निकालने की तैयारी

Ranchi: राज्य के सबसे बड़े हॉस्पिटल रिम्स में प्रबंधन व्यवस्था सुधारने को लेकर रेस है. इसके लिए लगातार प्रयास भी किए जा रहे है. लेकिन इतने बड़े संस्थान को एक एलिजिबल सुपरिटेंडेंट नहीं मिल पा रहा है. जबकि इसके लिए प्रबंधन ने वैकेंसी निकाली है. अब फिर से नेशनल लेवल पर वैकेंसी निकालकर सुपरिटेंडेंट की बहाली की जाएगी. जिससे की हॉस्पिटल में मरीजों को बेहतर सुविधाएं मिल सके. बताते चलें कि लंबे समय से रिम्स में सुपरिटेंडेंट के पद पर रिम्स के अलग-अलग विभागों के किसी न किसी सीनियर डॉक्टर को नियुक्त किया जा रहा है. जिससे कि उनके विभागों के काम भी प्रभावित हो रहे है. वहीं मरीजों के इलाज पर भी ध्यान नहीं दे पा रहे है.

एक साल पहले निकली थी वैकेंसी

रिम्स में मेडिकल सुपरिंटेंडेंट और डिप्टी सुपरिंटेंडेंट पर नियुक्ति के लिए वैकेंसी निकाली गई थी. जिसमें सुपरिंटेडेंट के लिए अधिकतम उम्र सीमा 56 वर्ष निर्धारित की गई थी और डिप्टी सुपरिंटेंडेंट के लिए 50 वर्ष तय किया गया था. इसके अलावा वर्क एक्सपीरिएंश में सुपरिटेंडेंट के लिए पीजी के बाद हॉस्पिटल मैनेजमेंट में 10 वर्षो का अनुभव होना चाहिए था. वहीं डिप्टी सुपरिंटेंडेंट के लिए किसी भी 500 बेडेड हॉस्पिटल में पांच वर्षो का मैनेजमेंड का अनुभव होना चाहिए था. जिसमें सुपरिंटेडेंट के लिए कोई एलिजिबल कैंडिडेट तो नहीं मिला. इसमें डिप्टी सुपरिटेंडेंट की बहाली नेशनल लेवल पर हो गई.

डायरेक्टर डॉ कामेश्वर प्रसाद ने कहा कि हमारे यहां पहली बार नेशनल लेवल पर डिप्टी सुपरिंटेंडेंट का सेलेक्शन हुआ और उन्होंने काम करना शुरू कर दिया है. सुपरिटेंडेंट के लिए हमें एलिजिबल कैंडिडेट नहीं मिले. हम फिर से वैकेंसी निकालेंगे और प्रयास होगा कि सुपरिंटेंडेंट भी नेशनल लेवल का हो. जिसके पास अनुभव हो तो इसका फायदा हमें मिलेगा.

Related Articles

Back to top button