न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

हाल-ए-मनरेगा: घाटशिला में बगैर काम के हुआ मजदूरी भुगतान, बकरी शेड बना नहीं लेकिन हो गयी निकासी

1,029

East Singhbhum: एक ओर राज्य में सोशल ऑडिट को लेकर जनप्रतिनिधियों ने नई बहस शुरू कर दी है, दूसरी ओर मनरेगा का हाल किसी से छिपा नहीं. जबकि मनरेगा योजनाओं को बेहतर ढंग से लागू किये जाने पर गांव से पलायन रोकने के साथ-साथ लाभुकों के रोजगार के संसाधन सृजित किये जा सकते हैं, जो मनरेगा योजना का मुख्य मकसद भी है.

लेकिन राज्य में मनरेगा योजनाओं में अनियमितता के कई कीर्तिमान भी स्थापित हो चुके हैं. मनरेगा योजनाओं के सोशल ऑडिट किये जाने के बाद सरकारी राशि की अवैध निकासी की रिकवरी भी की गयी है, इसके बाद भी राज्य में मनरेगा योजना में भ्रष्टाचार रूकने का नाम नहीं ले रहा है.

इसे भी पढ़ेंःBJP विधायक ढुल्लू महतो के बचाव में रो पड़ी पत्नी, मेरे पति हैं बेकसूर, यौन शोषण पीड़िता चरित्रहीन महिला

कई ऐसे मामले पूर्वी सिंहभूम जिला के घाटशिला प्रखंड स्थित कारिंदा पंचायत में भी सामने आये हैं. जहां बिना काम के योजना राशि की निकासी, मजदूरों के द्वारा काम किये जाने के बाद मजदूरी भुगतान ना होना और बिना काम किये मजदूरी का भुगतान कर देना जैसे मामले सामने आये हैं.

hotlips top

कारिंदा पंचायत में कहीं मजदूरी नहीं मिली तो कहीं बगैर काम के हुआ भुगतान

मनरेगा योजना में काम करने के बाद मजदूरी का भुगतान नहीं करने का मामला कारिंदा पंचायत में सामने आया है. योजना संख्या जेई/70 80 90 10720 49 में काम करने वाले मजदूर टुसू मुण्डा के 840रूपये, तुलसी महतो के 168 रूपये, सहचारी मुण्डा के 1008 रूपये, दिलीप महतो के 1008 रूपये का भुगतान नहीं किया गया.

वहीं इसी पंचायत के सुनील मार्डी के पीएम आवास में भी सुनील मार्डी के 53 दिनों की मजदूरी का भुगतान नहीं किया गया. जिसकी योजना कोड संख्या REJ नम्बर JH 168011 में 8904 रूपये मजदूरी का भुगतान नहीं किया गया.

30 may to 1 june

जबकि कारिंदा पंचायत में ही ऐसे मामले भी उजागर हुए जहां बिना मजदूरी के भुगतान कर दिया गया. योजना संख्या IF/70 80 90 1161 471, IF/ 708 090 116 1469 में काम किए बिना 7056 रूपये मजदूरी का भुगतान कर दिया गया. वहीं शौचालय निर्माण किये बगैर भी 20648 रूपये की निकासी कर ली गयी.

इसे भी पढ़ेंःअसहमति को राष्ट्रविरोधी कहना लोकतंत्र पर हमला है

बकरी शेड के नाम पर भी हुई अवैध निकासी

पंचायत में बकरी शेड स्वीकृत किये गये थे. जिसमें बिना निर्माण किये राशि की निकासी कर ली गई. चेंगजोड़ा में योजना संख्या 7080901210394 में 25618 रूपये, योजना सं. 70809012105 में 27834 रूपये, गोराई के बकरी शेड जिसकी योजना संख्या आइएफ/ 70 80 90 1210 228 में भी 25818 रूपये की निकासी की गयी.

वहीं पंचायत के काशिदा गांव के रंजनीकांत का बकरी शेड जिसकी योजना संख्या आइएफ/7080901210237 में 26322 रूपये, अशोक मंडल का बकरी शेड जिसकी योजना संख्या आइएफ/7080901210249 में 26642 रूपये, योजना संख्या आइएफ/7080901210677 में 27498 रूपये की अवैध निकासी कर ली गयी है.
इसे भी पढ़ेंःवादा जो किया है तो निभाइये इरफान जीः बीजेपी

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

o1
You might also like