न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राजधानी में अब डाकघरों में नहीं मिलेगा नन ज्यूडिशियल स्टांप पेपर, स्टांप वेंडरों को मिला जिम्मा

256
  • कचहरी में वेंडरों को मिली स्टांप पेपर बेचने की अनुमति
  • लोगों की परेशानी बढ़ी, एक दिन में नहीं मिलता है स्टांप पेपर

Ranchi: राजधानी रांची के डाकघरों में अब नन ज्यूडिशियल स्टांप पेपर नहीं मिलेगा. अब समाहरणालय परिसर (कचहरी) में स्टांप वेंडरों को ही इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से स्टांप पेपर निर्गत करने की जवाबदेही सौंपी गयी है. अब डाकघरों में स्टांप पेपर नहीं दिये जा रहे हैं. राजधानी रांची के समाहरणालय परिसर में फिलहाल आधा दर्जन वेंडरों को ही स्टॉक होल्डिंग कारपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (एसएचसीआइएल) से जोड़ा गया है. पहले राजधानी के प्रधान डाकघर समेत जीपीओ, कैनरा बैंक में नन ज्यूडिशियल स्टांप पेपर मिलता था. कचहरी में निबंधित स्टांप वेंडरों के यहां पर पहचान पत्र दिखाने के बाद 100, 200 रुपये या इससे अधिक रुपये का स्टांप पेपर हाथों-हाथ मिलता था.

पुरानी व्यवस्था बदली, अब एक दिन में नहीं मिलता है स्टांप पेपर

अब स्टांप पेपर लेने के लिए लोगों को काफी जद्दोजेहद करनी पड़ती है. स्टांप वेंडिंग जोन में सुबह 11 बजे से दोपहर तीन बजे तक ही स्टांप दिये जाने का वक्त निर्धारित है. शनिवार के दिन अथवा अवकाश के दिन स्टांप वेंडरों के यहां से ऑनलाइन स्टांप जारी नहीं किया जाता है. इससे पहले चालान भर कर संबंधित राशि के पैसे का भुगतान ट्रेजरी में करना पड़ता है. ट्रेजरी की अधकट्टी स्टांप वेंडरों को दिखाने पर दूसरे दिन स्टांप मिलता है. स्टांप के लिए भरे जानेवाले परचे में यह उल्लेख करना पड़ता है कि आखिर किस उद्देश्य से इसकी खरीद की जा रही है.

अक्सर लिंक रहता है फेल

Related Posts

झारखंड में भाजपा ने फिर से लहराया परचम, आजसू ने भी खाता खोला

अपनी सीट नहीं बचा पाये प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुआ

लोगों की तकलीफ यह है कि स्टांप वेंडरों के सिस्टम से जारी होनेवाले स्टांप पेपर को लेकर काफी परेशानी होती है. अक्सर वेंडरों का लिंक ऑनलाइन व्यवस्था के तहत फेल ही रहता है. ऑनलाइन लिंक मिलने पर ही संबंधित व्यक्ति के नाम से स्टांप का प्रिंट आउट निकलता है.

स्टॉक होल्डिंग के रांची दफ्तर में भी मिलता है स्टांप

स्टॉक होल्डिंग कारपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड के रांची क्षेत्रीय कार्यालय में भी स्टांप देने की व्यवस्था की गयी है. यहां पर सुबह 11 बजे से 12 बजे तक ही फार्म लिये जाते हैं. दोपहर दो बजे के बाद संबंधित व्यक्ति को स्टांप पेपर दिये जाते हैं. राज्य भर में राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग की तरफ से ऑनलाइन स्टांप निर्गत किये जाने को लेकर स्टॉक होल्डिंग कारपोरेशन से समझौता किया गया है.

इसे भी पढ़ें – पारा शिक्षकों की नियुक्ति नियमावली के लिए समिति करेगी अन्य राज्यों में की गयी कार्रवाई का अध्ययन

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

hosp22
You might also like
%d bloggers like this: