न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

गुमलाः मृत पशु मामले में दो लोग गिरफ्तार, आठ पर नामजद प्राथमिकी

30 अज्ञात लोगों के खिलाफ भी मामला दर्ज.

875

Gumla: मृत पशु काटने को लेकर चार लोगों पर हुए जानलेवा हमले के मामले में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है. ज्ञात हो कि डुमरी थाना के जैरागी सेन नदी के किनारे बुधवार की देर शाम को मृत पशु को काट रहे जुरमू गांव के चार लोगों पर एक समुदाय के लोगों ने हमला कर दिया था.

इस हमले में जुरमू गांव के प्रकाश लकड़ा की मौत हो गई थी और जुरमू गांव के ही पीटर केरकेट्टा, बेलासियुस तिर्की व जनावारियुस मिंज घायल हो गए थे.

इसे भी पढ़ेंःहजारीबाग से आखिर कौन होगा कांग्रेस उम्मीदवार ? देर से कहीं महागठबंधन को ना हो जाये नुकसान

8 लोगों पर नामजद प्राथमिकी

घटना के बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए जहां दो लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. वहीं पुलिस ने 8 लोगों पर नामजद प्राथमिकी सहित 30 अज्ञात लोगों पर भी मामला दर्ज किया है.

पुलिस का कहना है घटना में शामिल में लोगों की गिरफ्तारी के लिए लगातार कार्रवाई कर रही है. जल्द ही सभी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

पुलिस बल की तैनाती

घटना के बाद जैरागी व जुरमू गांव में तनाव का माहौल था. किसी भी अनहोनी को होने से पहले गांव में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है.

हालांकि स्थिति अभी नियंत्रण में है और पुलिस गांव में कैंप कर रही है. एसपी अंजनी कुमार झा ने गांव पहुंचकर पूरे मामले की जानकारी ली. एसडीओ सत्यप्रकाश, डुमरी बीडीओ युनिका शर्मा, चैनपुर बीडीओ डॉ शिशिर कुमार सिंह, जारी प्रखंड के बीडीओ प्रवीण केरकेट्टा सहित तीनों थाना की पुलिस गांव में कैंप कर रही है.

इसे भी पढ़ेंःरामनवमी पर पश्चिम बंगाल में सियासत गर्म, विहिप की रैली को नहीं मिली इजाजत

वहीं घटना के बाद जुरमू गांव की दर्जनों महिलाएं घायलों को देखने के लिए डुमरी प्रखंड आ रही थी. लेकिन तनाव की स्थिति को देखते हुए ग्रामीणों को पुलिस ने गांव में ही रोक दिया था.

मृत पशु काटते देख एक समुदाय ने किया था हमला

मिली जानकारी के अनुसार, पशु काटते देखकर एक समुदाय के लोगों ने चारों लोगों पर हमला किया था. बताया जा रहा कि जुरमू गांव के लोग पशु का मांस खाते हैं.

गांव के जखरियस कुजूर का एक बूढ़ा बैल नदी के किनारे गिर गया था. इसकी सूचना मिलने के बाद गांव के कुछ उसे देखने के लिए गये थे.

पशु को खाने के लिए काटा जा रहा था तभी जैरागी गांव के एक समुदाय के लोगों ने हमला कर दिया. जिसमें कुछ लोग जान बचाकर भाग गये. लेकिन एक समुदाय के लोगों ने प्रकाश लकड़ा की पीट-पीट कर हत्या कर दी.

जांच के लिए बनायी गयी थी एसआईटी

घटना की सूचना मिलने पर रांची डीआईजी एवी होमकर भी गांव पहुंचे थे. और घायलों की समुचित इलाज की व्यवस्था करने का निर्देश देते हुए, घटना की हर पहलू की जांच कर दोषियों को चिन्हित करते हुए गिरफ्तार करने का आदेश दिया.

इसे भी पढ़ेंःजलियांवाला बाग की 100वीं बरसी पर राहुल गांधी ने दी श्रद्धांजलि

डीआईजी ने कहा कि इस मामले के उद्भेदन हेतु एसपी गुमला के नेतृत्व में एसआईटी का गठन किया गया है. एसआईटी का नेतृत्व एसपी गुमला करेंगे.

जबकि इसमें एसडीपीओ चैनपुर, पुलिस निरीक्षक चैनपुर अंचल और थाना प्रभारी चैनपुर, डुमरी व जारी को शामिल किया गया है. पुलिस फरार आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए कार्रवाई कर रही है.

इसे भी पढ़ेंःसिल्ली विधायक सीमा देवी ने हिंडालको कास्टिक तालाब हादसे की जांच सीबीआइ से कराने की मांग की

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like

you're currently offline

%d bloggers like this: