National

गुजरातः दलितों-मुसलमानों को घर नहीं बेचने की हिदायत पर नाराज लोग

Narmada (Gujarat): गुजरात के नर्मदा जिले में दलितों और मुसलमानों को घर नहीं बेचने की हिदायत देने का मामला तूल पकड़ने लगा है. मामला जिले के नंदोद तालुका में स्थित वाडिया गांव में बनी कॉलोनी का है.

जहां लोगों को मुसलमानों और दलितों को अपने घर ना बेचने की हिदायत देने वाले एक मामले में तूल पकड़ लिया. दरअसल घर बेचने की हिदायत वाली बात सोसायटी की एक पैम्फलेट में लिखी गई.

advt

हालांकि बाद में दावा किया गया कि यह सोसायटी की बैठक में चर्चा किए जाने वाले एजेंडों की सूची का हिस्सा था. इस पैम्फलेट पर दलित समुदाय खासा नाराज है.

दलितों-मुसलमानों को प्रॉपर्टी नहीं बेचने की बात

गौरतलब है कि गुरुवार को सोशल मीडिया में वायरल हुए पैम्फलेट में सोसायटी में आगामी त्योहारों के साथ-साथ संपत्तियों की बिक्री पर लगाये जाने वाले शुल्क और समाज की सांस्कृतिक घटनाओं के बारे में कई बिंदुओं का उल्लेख किया गया. पैम्फलेट में यह भी लिखा गया कि सदस्यों को ‘मुस्लिम और वणकर (दलित) समुदायों को संपत्ति बेचने से बचना चाहिए’.

कलेक्टर से मिला दलित समुदाय

इस पूरे मामले को लेकर सख्त नाराजगी जताते हुए दलित समुदाय के एक प्रतिनिधि मंडल ने कलेक्टर से मुलाकात की. और जातिगत भेदभाव को बढ़ावा देने वाले के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की.

ज्ञापन सौंपने वाले एक शख्स ने कहा, ‘जिला कलेक्टर से मामले में जांच करने की मांग की गई है. साथ ही मांग की है कि समाज में इस तरह का भेदभाव फैलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाए.’

वहीं मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए नर्मदा जिला कलेक्टर आईके पटेल ने कहा कि ‘हमने कॉलोनी से इस मामले में जवाब देने को कहा. उन्होंने हमें बताया कि यह एक बैठक में चर्चा के लिए उनके एजेंडे का एक मसौदा था, साथ ही कॉलोनी इस तरह का कोई नियम नहीं बनाने जा रही. यह रिहायशी सदस्यों से सुझावों के आधार पर तैयार की गई लिस्ट थी. साथ ही कलेक्टर ने कहा कि इस जवाब को स्वीकार कर लिया है, लेकिन अगर भेदभाव होता है तो इस मुद्दे पर नजर रखेंगे और जांच शुरू करेंगे.’

Nayika

advt

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: