न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रांची से लापता हुए गुजरात के व्यवसायी नवीन पटेल ने NIA के समक्ष किया सरेंडर

835

Ranchi: 29 जुलाई को रांची से लापता हुए गुजरात के व्यवसायी नवीन पटेल ने एनआइए का समक्ष सरेंडर कर दिया. नवीन एनआइए की नोटिस पर रांची आये थे और फिर उसके बाद वह लापता हो गये थे.

10 नवंबर 2016 को नक्सली संगठन पीएलएफआइ सुप्रीमो दिनेश के बेड़ो में रेखा पेट्रोल पंप से बरामद हुए 25.30 लाख रुपये के बरामद होने जुड़े एक मामले में एनआइए के नोटिस पर दिल्ली से रांची आये गुजरात के टिम्बर व्यवसायी नवीन पटेल रांची से रहस्यमय ढंग से गायब हो गये थे. जिसके बाद नवीन ने अपने मोबाइल फोन से परिजनों को सुसाइड नोट भेजा था. इसके बाद नवीन के परिजनों ने रांची पुलिस से उन्हें ढूंढने की गुहार लगायी थी.

कांड के अनुसंधान में एनआइए ने निवेशक सुमंत साव, जितेंद्र सिंह को हाल में गिरफ्तार किया था. सुमंत लेवी के पैसों का निवेश शेल कंपनियों और पावर प्लांट लगाने के नाम पर कर रहा था. एनआईए जांच में यह बात सामने आयी थी कि सुमंत ने लाइजनिंग के लिए नवीन से भी संपर्क किया था. इस मामले में एनआइए ने पहली बार 29 अप्रैल को नवीन को गवाही देने के लिए रांची बुलाया था.

इसे भी पढ़ें- आपके अखबार ने दी यह सूचना !! स्टील, कोयला समेत आठ कोर सेक्टर में ग्रोथ रेट सिर्फ 0.2 प्रतिशत, 2015 के बाद सबसे कम

28 जुलाई को एनआइए के समक्ष बयान दर्ज करवाया था

गुजरात के व्यवसायी नवीन पटेल दिल्ली से रांची आये थे. उन्होंने 28 जुलाई को एनआइए के रांची स्थित धुर्वा कैंप में प्रस्तुत होकर अपना बयान दर्ज करवाया था. इसके बाद 29 को एनआइए ने बयान के वेरिफिकेशन के लिए उनको दोबारा बुलाया था.

Mayfair 2-1-2020

लेकिन वह नहीं आये. इसी दौरान नवीन पटेल का मैसेज उनके परिजनों के पास पहुंचा. जिसमें लिखा था वह सुसाइड करने जा रहे हैं. इसकी जानकारी नवीन पटेल के परिजन ने रांची पुलिस को दी. जिसके बाद पुलिस ने नवीन पटेल का लोकेशन ट्रेस किया जो रायबरेली बताया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें- सोलर जलमीनारः अब डीडीसी और पंचायती राज अधिकारी मुखिया को जबरन कह रहे इसी एजेंसी से कराना है काम

Sport House

दिनेश गोप के 25.30 लाख रुपये हुए थे बरामद

नोटबंदी के समय बेड़ो से रेखा पेट्रोल पंप मालिक को 25.30 लाख रुपये के साथ गिरफ्तार किया गया था. पुलिस ने दावा किया था कि ये रकम दिनेश गोप की थी. पुलिस और एनआए इन दिनों टेरर फंडिंग के नेटवर्क को तोड़ने में जुटे हैं. इसी सिलसिले में झारखंड में लगातार कार्रवाई होती रही है.

मिली जानकारी के अनुसार नोटबंदी के बाद दिनेश गोप एक करोड़ रुपये के कालेधन को व्हाइट मनी बनाना चाहता था. जिसकी जानकारी एनआइए को मिली. इस क्रम में 10 नवंबर 2016 को 25.30 लाख रुपये जब्त किये गये. ये रुपये बेड़ो के रेखा पेट्रोल पंप के मालिक नंद किशोर महतो तक कामडारा निवासी ठेकेदार यमुना प्रसाद ने पहुंचाये थे.

रुपयों के साथ नंद किशोर महतो (हरिहरपुर, बेड़ो) पुत्र चंद्रशेखर, दामाद, बिनोद कुमार (रातू रोड, मधुकम, सुखदेवनगर) और मोहन कुमार उर्फ राजेश के पास से सात मोबाइल, एसयूवी व एसबीआइ के कुल 12 डिपोजिट स्लिप भी मिले थे.

 

SP Jamshedpur 24/01/2020-30/01/2020

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like