न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राज्य के सरकारी स्कूलों में तीन माह के लिए बहाल होंगे गेस्ट टीचर

मैट्रिक और इंटर का सिलेबस कवर कराने के लिए स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग ने लिया यह फैसला

121

Ranchi : स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग राज्य में मैट्रिक और इंटर का सिलेबस कवर कराने के लिए एक नयी तैयारी करने के मूड में है. अब विभाग तीन महीनों के लिए गेस्ट टीचर बहाल करने जा रहा है. विभाग की ओर से इन शिक्षकों को दैनिक मानदेय पर बहाल किया जायेगा. झारखंड एकेडमिक कौंसिल (जैक) द्वारा आयोजित मैट्रिक और इंटर की परीक्षा में बीते वर्ष छात्रों का प्रदर्शन खराब रहा था, तो इसी को देखते हुए विभाग ने यह निर्णय लिया है. साथ ही बीते साल शिक्षकों की कमी की वजह से राज्य के स्कूलों में मैट्रिक और इंटर के छात्रों का सिलेबस समय पर पूरा नहीं हो पाया था. विभाग ने इसे देखते हुए यह पहल की है, ताकि गेस्ट टीचरों के माध्यम से बच्चों का सिलेबस पूरा किया जा सके.

इसे भी पढ़ें- पलामू: 16 नवंबर से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जायेंगे मनरेगा कर्मचारी

तीन महीनों के लिए बहाल होंगे शिक्षक

राज्य के सरकारी स्कूलों में पढ़ाने के लिए सिर्फ तीन महीनों के लिए ही गेस्ट टीचर की बहाली की जायेगी. उक्त टीचर दो कैटेगरी के होंगे. ट्रेंड टीचर को प्रतिदिन 500 रुपये, जबकि अनट्रेंड टीचर को प्रतिदिन 400 रुपये दिये जायेंगे. जिला शिक्षा पदाधिकारी के मुताबिक, स्कूलों में आवश्यकता के अनुसार ही शिक्षकों को बहाल किया जायेगा. जिला शिक्षा पदाधिकारी ने इस बारे में बताया कि पहले स्कूलवार एवं विषयवार शिक्षकों की सूची तैयार की जायेगी, फिर शिक्षकों को बहाल किया जायेगा. साथ ही स्कूलों में जो गेस्ट टीचर बहाल होंगे, उन्हें प्रतिदिन छह घंटी, जबकि शनिवार के दिन तीन घंटी पढ़ाना होगा.

इसे भी पढ़ें- 10 करोड़ से बना सदर अस्पताल पुराने खंडहर पीएमसीएच की राह चला

पारा शिक्षकों के आंदोलन के कारण विभाग ने उठाया कदम

palamu_12

दरअसल, झारखंड के पारा शिक्षक अक्टूबर से ही आंदोलनरत हैं, जिससे स्कूलों में शिक्षकों की कमी हो गयी है. यही वजह है कि स्कूल में मैट्रिक के छात्रों का सिलेबस पूरा नहीं हो पा रहा है. वहीं, राज्य के लगभग 67000 पारा शिक्षक आंदोलनरत हैं. ऐसे में विभाग ने दैनिक मानदेय पर गेस्ट टीचर बहाल करने का तरीका इस्तेमाल किया है, ताकि बोर्ड के छात्रों का समय पर सिलेबस पूरा किया जा सके और रिजल्ट भी अच्छा हो. वहीं, दूसरी ओर राज्य में इंटर के शिक्षकों की भी कमी है, जिसे देखते हुए राज्य सरकार ने इंटर में भी दैनिक मानदेय पर तीन महीनों के लिए गेस्ट टीचर बहाल करने का फैसला किया है.

इसे भी पढ़ें- सुनियोजित चाल थी नोटबंदी, जनता के समक्ष जाने का नहीं बचा है कोई मुद्दा: आलमगीर आलम

गेस्ट टीचर्स के जरिये बच्चों का सिलेबस पूरा किया जायेगा : सचिव

स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग के सचिव एपी सिंह ने कहा कि मैट्रिक और इंटर के छात्रों के लिए सरकार स्कूलों में गेस्ट टीचर तीन महीने के लिए बहाल करेगी, ताकि बच्चों का सिलेबस पूरा किया जा सके. साथ ही उन्होंने बताया कि स्कूलों में शिक्षकों की कमी होने की वजह से गेस्ट टीचर्स को बहाल किया जा रहा है और इसके लिए रिटायर्ड टीचर्स को भी बहाल किया जा सकेगा. लेकिन, इसके लिए उनकी उम्र 65 साल से कम होनी चाहिए. साथ ही यह भी सुनिश्चित किया गया है कि जिस ब्लॉक में स्कूल होगा, उसी ब्लॉक के गेस्ट टीचर होने चाहिए.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: