न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

साइबर गैंग का अपराधी चढ़ा पुलिस के हत्थे, 71 एटीएम कार्ड बरामद

एटीएम कार्ड बदल करता था ठगी, अंतरराज्यीय गिरोह से है संबंध

53

Giridih : एटीएम कार्ड बदल कर खाताधारकों के खाते से ढाई लाख उड़ाने वाले गिरोह के एक सदस्य को राजधनवार के गांधी चौक के समीप स्थानीय लोगों ने खदेड़ कर दबोचा और धनवार पुलिस को सौंप दिया. धनवार पुलिस के हत्थे चढ़ा अपराधी ताजमुल अंसारी कोडरमा जिले के मतौमी गांव का रहने वाला है. पुलिस ने उसके पास से 71 एटीएम कार्ड बरामद किया है. जो अलग-अलग बैंकों के खाताधारकों का है.

इसे भी पढ़ें- रोज कटेगी 8 घंटे बिजली, डीवीसी का बकाया 3527.80 करोड़

कैसे पकड़ाया अपराधी

इधर अपराधी की गिरफ्तारी के बाद बुधवार को पुलिस लाइन में प्रेसवार्ता कर डीएसपी-2 संतोष मिश्रा और धनवार पुलिस निरीक्षक ने बताया कि ताजमुल ने गांधी चौक के समीप एक्सिस बैंक के एटीएम में एक खाताधारक से एटीएम कार्ड मांगा. इस दौरान खाताधारक को संदेह होने के उसने स्थानीय लोगों को इसकी जानकारी दी. इसके बाद स्थानीय लोगों ने मामले की सूचना धनवार पुलिस को दी. इस बीच जब अपराधी ताजमुल ने भागने का प्रयास किया, तो स्थानीय लोगों ने ही ताजमुल को खदेड़ कर दबोचते हुए पुलिस के हवाले कर दिया.

इसे भी पढ़ें-स्थापना दिवस पर मोरहाबादी में जुटेंगे पारा शिक्षक, मांगों पर सरकार ने घोषणा नहीं की, तो करेंगे…

शातिर है साइबर अपराध का यह गिरोह

पुलिस ने बताया कि गिरोह के दो अपराधी छोटू राय व बंटी राय को एक माह पहले ओडिशा पुलिस के हत्थे 100 एटीएम कार्ड के साथ दबोचे गए थे. फिलहाल दोनों अपराधी अब भी ओडिशा के जेल में बंद है. पुलिस गिरफ्तार ताजमुल के पास से बरामद एटीएम कार्डों को खंगाल कर पता लगाने में जुटी है कि गिरोह के इस अपराधी ने अब तक कितने खाताधारकों के खातो से नगद उड़ाया है.

वैसे अब तक की पूछताछ में ताजमूल ने ढाई लाख की ठगी की बात को स्वीकारा है. पूछताछ में ताजमुल ने बताया कि वह और उसका गिरोह लोगों के एटीएम कार्ड बदल कर ठगी किया करता था. इसके लिए पहले एटीएम की रैकी कर पता लगाया जाता था कि एटीएम से पैसे निकालने वाला खाताधारक अकेले एटीएम घुस रहा है या नहीं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: