न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

अब अभिभावक देंगे शपथपत्र, बेटा-बेटी नहीं करेगा रैगिंग; UGC ने बदला नियम  

राज्य के सभी पॉलीटेक्निक में इसी सत्र से एडमिशन के लिए छात्रों के अभिभावक को शपथपत्र देना होगा

903

Dhanbad :  विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने शिक्षण संस्थानों में रैगिंग को लेकर नियमों में बदलाव किया है. राज्य के सभी पॉलीटेक्निक में सत्र 2019-22 यानी इसी सत्र में एडमिशन पाने के लिए छात्रों के अभिभावक को शपथपत्र देना होगा कि उनका बेटा या बेटी रैगिंग नहीं करेगा.

अभी तक छात्र ही एडमिशन के समय इस आशय का शपथपत्र देते रहे हैं कि संस्थान में रैगिंग नहीं करेंगे और न ही इस तरह की किसी भी गतिविधि में शामिल होंगे.

इसे भी पढ़ें : कथित नरबलि मामला : DIG ने की जांच,  कहा- बच्चों की बलि देने के संकेत नहीं मिले

मस्ती या मजाक भी रैगिंग की श्रेणी में

अब यूजीसी के नये नियम के मुताबिक छात्रों के साथ-साथ उनके परिजनों को भी शपथपत्र देना होगा कि उनका बेटा या बेटी रैगिंग में संलिप्त नहीं होंगे और यदि ऐसा होता है तो संस्थान संबंधित छात्र को बाहर का रास्ता दिखाने के लिए स्वतंत्र होगा.

नये नियम के मुताबिक मस्ती या मजाक भी रैगिंग की श्रेणी में आयेंगे. रैगिंग से जुड़े कायदे-कानून भी छात्रों को बताने के निर्देश दिये गये हैं. परिसर सहित हॉस्टल की निगरानी भी होगी.

हॉस्टल में यह भी जांचना होगा कि शिक्षण कार्य के समय सभी छात्र अपने-अपने कमरों में पढ़ाई करें. साथ ही नए छात्रों के कमरों में पूर्व छात्र तो नहीं आते-जाते. हॉस्टल में देर शाम से देर रात तक डीन स्टूडेंट या एंटी रैगिंग कमेटी या वार्डन को प्रतिदिन औचक दौरा करना होगा.

ऑनलाइन शपथपत्र भी भरना होगा

एडमिशन लेने वाले सभी छात्रों और अभिभावकों को अब हर वर्ष रैंगिंग से दूर रहने का ऑनलाइन शपथपत्र भी देना होगा. यूजीसी के निर्धारित फार्मेट में छात्र और अभिभावक दोनों को अलग-अलग शपथपत्र भरकर देना है.

Related Posts

राज अस्पताल में विश्व मरीज सुरक्षा दिवस मनाया गया

हाल ही में दुनिया में डब्ल्यूएचओ द्वारा मरीजों की सुरक्षा को सर्वोच्च प्राथमिकता देने का संकल्प किया गया है.

यूजीसी ने शिक्षण संस्थानों में रैगिंग रोकने के लिए एंटी रैगिंग सेल बनाने के भी निर्देश दिये हैं. साथ ही शिक्षण संस्थानों में जगह-जगह एंटी रैगिंग कमेटी के सदस्यों के नाम और उनके फोन नंबर की सूची लगाने के भी निर्देश दिये हैं.

इसे भी पढ़ें : पलामू : बेतला घूमने आये रांची के टूरिस्ट सहित दो से 1.44 लाख की लूट

बिना शपथ पत्र के एडमिशन नहीं

यदि कोई नियमों का पालन नहीं करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जायेगी. राजकीय पॉलीटेक्निक धनबाद ने इस आशय का निर्देश जारी कर दिया है.

हालांकि दो दिन पहले ही नये सत्र में एडमिशन के लिए होने वाली प्रथम काउंसिलिंग रद कर दी गयी है, लेकिन नई तिथि जारी होते ही एडमिशन के समय यह शपथपत्र देना होगा. यदि शपथपत्र नहीं देते हैं तो एडमिशन नहीं होगा.

 पॉलीटेक्निक में प्रवेश के लिए नियम

  • एंटी रैगिंग शपथपत्र (छात्र और अभिभावक दोनों के अलग-अलग) यूजीसी द्वारा निर्धारित प्रपत्र में.
  • रजिस्टर्ड चिकित्सक द्वारा निर्गत स्वास्थ्य प्रमाणपत्र, जिसपर छात्र की तस्वीर चिकित्सक द्वारा अभिप्रमाणित होगी.
  • संस्थान में नामांकन के लिए जमा किये जाने वाले सभी प्रमाणपत्रों में किसी तरह की कोई गड़बड़ी पाये जाने पर नामांकन रद्द कर दिया जायेगा.

इसे भी पढ़ें : सुब्रमण्यम स्वामी ने अपने ट्वीट से चौंकाया, लिखा, भाजपा का बढ़ता जनाधार लोकतंत्र के लिए खतरा   

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like

you're currently offline

%d bloggers like this: