Business

जीएसटी संग्रह पटरी पर, फरवरी के बाद अक्तूबर में पहली बार 1.05 लाख करोड़ रुपये रहा  

कोविड-19 महामारी के प्रसार को रोकने के लिए लगाये गये लॉकडाउन की वजह से जीएसटी संग्रह का आंकड़ा लगातार कई माह तक एक लाख करोड़ रुपये के स्तर से नीचे रहा था.

NewDelhi : जीएसटी संग्रह का आंकड़ा अक्तूबर में 1.05 लाख करोड़ रुपये रहा है. जानकारी दी गयी है कि फरवरी के बाद पहली बार जीएसटी संग्रह का आंकड़ा एक लाख करोड़ रुपये के पार चला गया है.  वित्त मंत्रालय ने रविवार को यह जानकारी दी. बयान में कहा गया है कि अक्टूबर 2020 का जीएसटी संग्रह (वस्तु एवं सेवा कर) पिछले साल के इसी महीने के कुल जीएसटी संग्रह से 10 प्रतिशत अधिक है.

वित्त मंत्रालय ने बताया कि 31 अक्तूबर, 2020 तक दाखिल किये गये कुल जीएसटीआर-3बी रिटर्न की संख्या 80 लाख पर पहुंच गयी है. वित्त मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि अक्तूबर, 2020 में कुल जीएसटी संग्रह 1,05,155 करोड़ रुपये रहा.

इसे भी पढ़ें : तेलंगाना के सीएम के चंद्रशेखर राव ने मोदी सरकार के किसान बिल को गुंडागर्दी करार दिया  

ram janam hospital
Catalyst IAS

अक्तूबर, 2019 में जीएसटी संग्रह 95,379 करोड़ रुपये रहा था.

The Royal’s
Sanjeevani

इसमें सीजीएसटी का हिस्सा 19,193 करोड़ रुपये, एसजीएसटी का 5,411 करोड़ रुपये, आईजीएसटी का 52,540 करोड़ रुपये (इसमें वस्तुओं के आयात पर 23,375 करोड़ रुपये का संग्रह भी शामिल है) और 8,011 करोड़ रुपये का उपकर (932 करोड़ रुपये आयातित वस्तुओं पर) शामिल है.

अक्तूबर, 2020 में जीएसटी संग्रह पिछले साल के समान महीने से दस प्रतिशत अधिक रहा है. अक्तूबर, 2019 में जीएसटी संग्रह 95,379 करोड़ रुपये रहा था. कोविड-19 महामारी के प्रसार को रोकने के लिए लगाये गये लॉकडाउन की वजह से जीएसटी संग्रह का आंकड़ा लगातार कई माह तक एक लाख करोड़ रुपये के स्तर से नीचे रहा था.

 

इसे भी पढ़ें : नसीरुद्दीन शाह, जावेद अख्तर, प्रशांत भूषण समेत 130  हस्तियों ने फ्रांस हमलों के विरोध में बयान जारी किया

Related Articles

Back to top button