न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

युवतियों के लिए फिटनेस के साथ करियर बनाने का बेहतर विकल्प है जिम ट्रेनर

छोटे शहर से होने के कारण युवतियां नहीं बनना चाहतीं ट्रेनर

21

Ranchi: हर युवती चाहती है कि वो फिट दिखें, इसके लिए आजकल जिम भी युवतियां करती हैं. लेकिन, बहुत कम युवतियां होती हैं जो जिम ट्रेनर के रूप में अपना करियर बनाना चाहती हों. रांची जैसे छोटे शहर के लिए यह और भी मुश्किल है, जहां जिम का क्रेज तो युवतियों में देखा जा रहा है, लेकिन ये जिम ट्रेनर बनना नहीं चाहतीं. जिम ट्रेनर न बनने का कारण सिर्फ एक है पारिवारिक नजरिया. कई जिम संचालकों ने बताया कि राजधानी में पिछले कुछ सालों में काफी विकास हुआ है, लेकिन, अभी भी लोग अपने नजरिये और परंपराओं से बाहर नहीं आये हैं. उन्होंने बताया कि फीमेल जिम ट्रेनर मिलना काफी मुश्किल है. कई लड़कियां पहले से जिम ट्रेनिंग ले तो रही हैं, लेकिन उन्हें ट्रैनिंग देने के लिए कहा जाता है तो परिवार समेत अन्य कारण बता कर ये मना कर देती हैं. जिम संचालक अविनाश कुमार ने बताया कि उन्होंने पिछले छह माह तक महिला जिम ट्रेनर खोजा तब जा कर उनके सेंटर में एक फीमेल ट्रैनर आयीं.

महिलाओं के लिये जरूरी फीमेल जिम ट्रेनर

जिम संचालकों ने बताया कि महिलाओं के लिए जरूरी है कि महिला जिम ट्रेनर ही रखा जाये. पहले जब महिलाएं जिम के लिए आतीं थी, तो महिला ट्रेनर होने पर ही प्रशिक्षण लेना चाहती थीं, ऐसे में काफी मुश्किल होता था, महिलाओं को ट्रैनिंग के लिए मनाना. अब भी कुछ महिलाएं चाहतीं है कि उन्हें फीमेल ट्रैनर चाहिये, ऐसे में रांची में महिला जिम ट्रेनर ढूंढना काफी मुश्किल है. कई बार तो तीन-चार माहिने काम करने के बाद युवतियां नौकरी ही छोड़ देती हैं.

करियर के है आसार मानतीं हैं युवतियां

हालांकि युवतियां इस बात को मानतीं है कि जिम ट्रेनर के रूप में करियर एक अच्छा विकल्प है. इसमें फिटनेस के साथ साथ अच्छी कमाई होती है. साथ ही ये जॉब दिन भर मस्ती के मूड में रहते हुए किया जा सकता है. कई जिम करने वाली युवतियों ने बताया कि जिम ट्रेनर के रूप में वे काम तो करना चाहतीं है लेकिन भविष्य की चिंता करते हुए वे इस पर अधिक ध्यान नहीं देतीं.

मनोरंजन के साथ होता है काम

कुछ युवतियां है जो वर्तमान में विभिन्न जिम सेंटरों में ट्रेनर के रूप में काम कर रहीं हैं. इन युवतियों ने बातचीत के दौरान बताया कि जिम ट्रेनर के रूप में काम करना काफी रोमांचक होता है. काम करते हुए बहुत कुछ तो सीखते हैं ही लेकिन, काम के साथ कभी दबाव का माहौल नहीं रहता, क्योंकि ये जॉब हंसी मजाक के साथ स्‍टूडेंट्स से बात करते हुए होता है. वहीं दिन भर म्यूजिक के बीच काम किया जाता है, जिससे तनाव नहीं रहता.

silk_park

तीन-चार साल का प्रशिक्षण जरूरी जिम ट्रेनर बनने के लिये किसी को भी जरूरी है कि वो तीन से चार साल जिम करते रहे. एक जिम संचालक अविनाश ने बताया कि तीन-चार साल के लगातार प्रैक्टिस के बाद ही कोई भी व्यक्ति किसी को सीखाने के लिए सक्षम होता है, क्योंकि जिम में न सिर्फ मशीन के जरिये एक्सरसाइज करना होता है बल्कि शरीर को भी समझना काफी जरूरी होता है.

न्यूट्रिशन की हो सही जानकारी

लगातार प्रैक्टिस के साथ ही जिम में सही न्यूट्रिशन काफी जरूरी है, क्योंकि इसके बिना न ही किसी को पतला किया जा सकता है और न ही मोटा. एक जिम ट्रेनर को इसकी सही जानकारी होनी चाहिये. इसके साथ ही लोगों के साथ कम्यूनिकेशन स्किल, कस्टमर हैंडलिंग की समझ भी काफी जरूरी है.

8-12 हजार रुपये तक सैलरी

जानकारी के अनुसार रांची में फीमेल जिम ट्रैनर को शुरूआत में 8-12 रुपये हर महिने मिलते हैं. नये ट्रैनर के लिए कम से कम 8 हजार रुपये हर महीने मिलता है. वहीं कुछ साल के अनुभवी ट्रैनर को 12 हजार रुपये तक मिलते हैं.

इसे भी पढ़ें: जानिये बैलून वाला एसी सिनेमाघर कैसे बनायेगा बाल विवाह मुक्त झारखंड

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: