न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

अमृतसर के निरंकारी भवन में ग्रेनेड से हमला, तीन श्रद्धालुओं की मौत,  20 से अधिक घायल

खबरों के अनुसार राजासांसी गांव के निरंकारी भवन में रविवार दोपहर कुछ  नकाबपोश मोटरसाइकल सवारों ने ग्रेनेड से हमला कर दिया. वहां जोरदार धमाका हुआ.

322

Amritsar : पंजाब स्थित अमृतसर के राजासांसी इलाके में मौजूद धार्मिक डेरे निरंकारी भवन पर रविवार दोपहर  ग्रेनेड से हमला किया गया. इस विस्फोट में तीन लोगों के मारे जाने की ख्बर है. साथ ही विस्फोट में 20 से अधिक लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं. इन घायलों के नजदीक के अस्पताल में भर्ती कराया गया है. रविवार को यहां बड़ी तादाद में श्रद्धालु जुटते हैं.  हमले के बाद फरेंसिक एक्सपर्ट मौके पर पहुंच गये है. वे जांच में जुट गये हैं.  ग्रेनेड हमले के बाद सरकार ने पंजाब के सभी शहरों सहित दिल्ली और अन्य इलाकों में अलर्ट जारी कर दिया है.  खबरों के अनुसार राजासांसी गांव के निरंकारी भवन में रविवार दोपहर कुछ  नकाबपोश मोटरसाइकल सवारों ने ग्रेनेड से हमला कर दिया. वहां जोरदार धमाका हुआ.  धमाके के बाद पूरे इलाके में अफरातफरी का माहौल बना हुआ है.  पुलिस और प्रशासनिक महकमे के अधिकारी मौके पर पहुंच कर तहकीकात में जुट गये.

इसे भी पढ़ें – कार्यकर्ताओं से बोले दिग्विजय सिंह, सौ बार चेक करें, बटन दबाया हाथ पर, पर्ची निकली फूल की तो…

हमले के पीछे कट्टरपंथियों का हाथ

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार हमले के पीछे कट्टरपंथियों का हाथ हो सकता है.  बता दें कि आईजी (बॉर्डर) सुरिंदर पाल सिंह परमार ने धमाके में तीन लोगों के मारे जाने और कई लोगों के घायल होने की पुष्टि की है बताया गया है कि निरंकारी भवन अमृतसरसे सात किलोमीटर दूर है. साथ ही यहां से अंतरराष़्ट्रीय सीमा की दूरी सिर्फ 20 किलोमीटर है.  रविवार को हमला किये जाने की वजह इस दिन यहां बड़ी तादाद में श्रद्धालुओं का जुटना हैं. हमले के बाद इलाके की नाकाबंदी कर दी गयी है  दिल्ली स्थित निरंकारी भवन की भी सुरक्षा बढ़ा दी गयी है

गुरुवार को दिल्ली पुलिस को इनपुट भेजा था

खबरों के अनुसार खुफिया एजेंसियों ने गुरुवार को ही दिल्ली पुलिस को इनपुट भेजा था कि कश्मीर का खूंखार आतंकी जाकिर मूसा अपने साथियों के साथ पंजाब के रास्ते दिल्ली या एनसीआर में पनाह ले सकता है.  इनपुट में कहा गया था कि जैश-ए-मोहम्मद के 6 से 7 आतंकवादी हमले की साजिश रच रहे हैं, मूसा पिछले एक साल से सुरक्षा एजेंसियों के लिए सिर दर्द बन चुका है.   इस घटना को लेकर  पहला बयान पंजाब कांग्रेस चीफ सुनील जाखड़ का आया है.  उन्होंने कहा कि हादसे में मारे जाने लोगों के साथ मेरी संवेदनाएं हैं.  यह पंजाब की शांति को भंग करने की कोशिश की गयी है.  कहा कि सुरक्षा एजेंसियों को सतर्क रहना चाहिए, जिससे शांति कायम रह सके.

 

 

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: