न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

दादी-नानी के वो घरेलू नुस्खे जो आज भी है कारगर, डॉक्टर भी मानते हैं अचूक

885

NW Desk: अमूमन हम सर्दी-जुकाम या छोटी-मोटी चोटों के लिए डॉक्टर के पास जाने से बेहतर घरेलू नुस्खों को अपनाना समझते हैं. और ये काम भी करते हैं. मसलन हल्की सर्दी-जुकाम और तेज सिरदर्द हो रहा हो तो तुलसी का काढ़ा या तुलसी-अदरक वाली चाय पीने से आराम मिलता है.

अगर कहीं चोट लगी हो तो हल्दी वाला दूध पीने से दर्द में राहत मिलती है. ऐसे कुछ कॉमन घरेलू नुस्खे हैं जिनका इस्तेमाल हम सब सालों से करते आ रहे हैं. और हम सबकी दादी-नानी भी तबीयत खराब होने पर इन्हीं नुस्खों को अपनाने और इन पर भरोसा करने की सलाह देती थीं.

Aqua Spa Salon 5/02/2020

आइये आज आपको बताते हैं कुछ कॉमन घरेलू नुस्खे जिन्हें डॉक्टर भी कारगर मानते हैं-

घरेलू नुस्खों का नहीं है कोई साइड इफेक्ट

मुंबई के हिंदूजा हॉस्पिटल के जनरल फिजिशन डॉक्टर अनिल बलानी का कहना है कि, कुछ घरेलू नुस्खे जिसमें सिंपल चीजें जैसे- शहद, फल, नैचरल ऑइल और जड़ी बूटियों का इस्तेमाल होता है वे सर्दी-खांसी जैसी कॉमन बीमारियों को दूर कर सकते हैं.

सबसे अच्छी बात ये है कि इनका कोई साइड इफेक्ट भी नहीं है. लेकिन इन नुस्खों का इस्तेमाल करते वक्त भी सावधानी बरतनी चाहिए क्योंकि किसी भी चीज की अति बुरी होती है.

पेटदर्द, गैस की समस्या दूर करता है नींबू के रस और सेंधा नमक

सेंधा नमक, नमक का सबसे शुद्ध रूप है और नैचरल मिनरल्स से भरपूर सेंधा नमक सफेद नमक से कई गुना बेहतर होता है. यह पाचन को बेहतर बनाने में मदद करता है. ऐसे में गैस की समस्या को दूर करने के लिए सेंधा नमक को नींबू के रस के साथ मिलाकर पीने से राहत मिलती है, डकार आते हैं और गैस पास करने में मदद मिलती है.

पेटदर्द, गैस की समस्या दूर करता है नींबू के रस और सेंधा नमक

इतना ही नहीं अगर ब्लोटिंग यानी पेट फूलने की समस्या हो तो वो भी इस नुस्खे से दूर हो जाती है.

Gupta Jewellers 20-02 to 25-02

लेकिन हार्ट और ब्लड प्रेशर के मरीजों को इस नुस्खे को नहीं अपनाना चाहिए क्योंकि ऐसे मरीजों को नमक कम खाने की सलाह दी जाती है.

दर्द और बॉडी पेन दूर करता है हल्दी वाला दूध

दूध प्रोटीन का बेस्ट सोर्स है जो घाव को भरने में मदद करता है और हल्दी में ऐंटी-इन्फ्लेमेट्री प्रॉपर्टीज होती हैं जो मसल्स में सूजन और जलन में राहत दिलाती हैं, ऐसे में हल्दी को दूध में उबालकर पीना एक बेहतरीन कॉम्बिनेशन है.

हल्दी में कर्क्यूमिन भी होता है जो की एक स्ट्रॉन्ग ऐंटिऑक्सिडेंट है जो इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने में मदद करता है.

दर्द और बॉडी पेन दूर करता है हल्दी वाला दूध

लेकिन ये नुस्खा हल्की चोटों पर ही ज्यादा कारगर है. अगर कोई ऐसी चोट या समस्या है जिसमें इलाज कराने और दवा खाने की जरूरत है तो उससे परहेज नहीं करना चाहिये.

कफ को दूर करता है शहद और अदरक

कफ, गले में खराश और गला खराब होने की दिक्कत में अदरक औऱ शहद एक बेस्ट रेमेडी है. अदरक को पानी में उबालकर और फिर शहद के साथ खाया जाए तो काफी राहत मिलती है. वैसे भी अदरक में ऐंटिऑक्सिडेंट भी होता है जो बीमारी से राहत दिलाता है.

कफ को दूर करता है शहद और अदरक

लेकिन डायबिटीज के मरीज शहद की कितनी मात्रा का सेवन कर रहे हैं इसे लेकर सावधान बरतने की जरुरत होगी.

माइग्रेन और ऐंग्जाइटी में फायदेमंद लैवेंडर ऑयल

माइग्रेन और ऐंग्जाइटी में फायदेमंद लैवेंडर ऑयल

सिरदर्द हो, माइग्रेट का अटैक हो, किसी तरह बेचैनी या चिंता महसूस हो रही हो तो इस तरह के मौकों पर लैवेंडर को सूंघने से दर्द में राहत मिल सकती है. स्टडीज में भी यह बात साबित हो चुकी है कि लैवेंडर की चाय पीने से या फिर लैवेंडर ऑइल की कुछ बूंदों को रुमाल या टीशू पेपर पर डालकर सूंघने से ऐंग्जाइटी कम होती है.

लेकिन अगर माइग्रेन की परेशानी पुरानी है तो लैवेंडर दवा का विकल्प नहीं हो सकता. ये सिर्फ दर्द को कुछ देर के लिए कम करने में मददगार साबित हो सकता है, लेकिन ठीक करने में नहीं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like