न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रिलायंस फ्रेश के सड़े अंडों पर सरकार गंभीर : सरयू राय

अंडों को जांच के लिए हैदराबाद भेजने का निर्देश

479

Binay Purti

Jamshedpur : राज्य के खाद्य आपूर्ति मंत्री सरयू राय ने कहा है कि जमशेदपुर के साकची स्थित रिलायंस फ्रेश के बिक्री केंद्र से लिये गये अंडों के नमूने जांच में सड़े हुए, बदबूदार और स्वास्थ्य के लिए हानिकारक पाये जाने का मामला काफी गंभीर है. ऐसे दूषित खाद्य पदार्थ की बिक्री करनेवालों के खिलाफ कठोर कार्रवाई आवश्यक है. उन्होंने कहा कि राज्य के विभिन्न जिलों में ऐसे खाद्य पदार्थों की बिक्री करनेवालों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जानी चाहिए. उन्होंने प्रधान सचिव, स्वास्थ्य सेवाएं, झारखंड सरकार को सुझाव दिया है कि जिन अंडों के नमूने जांच में घटिया पाये गये हैं, उन्हें हैदराबाद के सीसीएमबी (सेंटर फॉर सेल्युलर एंड मॉलिक्यूलर बायोलॉजी) की प्रयोगशाला में भिजवायें, ताकि यह जांच हो सके कि ये अंडे मुर्गी के हैं या किसी अन्य पक्षी के हैं या कृत्रिम तरीके से बनाये गये हैं.

इसे भी पढ़ें- झारखंड लूटखंड और खूनखंड बन चुका है : वृंदा करात

hosp1

यह राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय व्यावसायिक षड्यंत्र तो नहीं, यह जानना जरूरी

मंत्री सरयू राय ने कहा कि उबालकर तोड़ने पर इन अंडों के खोल के भीतर का उजला आवरण कड़ा होकर मुलायम प्लास्टिक जैसा हो जाता है. कच्चे अंडे के टूटने के बाद इसमें जैसी असहनीय बदबू निकलती है, वह सड़े हुए अंडे से बिल्कुल अलग है. सीसीएमबी की प्रयोगशाला बता देगी कि ये अंडे मुर्गी के हैं या किसी अन्य पक्षी के अथवा कृत्रिम तरीके से बनाये हुए हैं. इस बारे में जानना जूरूरी है कि कहीं यह मिलावटी, नकली खाद्य पदार्थ के राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय व्यावसायिक षड्यंत्र से जुड़ा हुआ है या नहीं. इस मामले के विभिन्न आपराधिक पहलुओं की गहराई से जांच आवश्यक है. इसलिए मैंने अपने विभाग के सचिव को निर्देश दिया है कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा अंडों की जांच का प्रतिवेदन भारत सरकार के खाद्य एवं उपभोक्ता मंत्रालय को भेजकर निर्देश मांगें कि अंडों के ऐसे व्यवसाय को नियंत्रित करने के लिए क्या किया जा सकता है. उपभोक्ता हित में एक मार्गदर्शिका इसके लिए केंद्र सरकार को बनानी चाहिए, ताकि घटिया अंडे का व्यापार नियंत्रित हो सके, दोषी दंडित हो सकें और ऐसे मामलों में उपभोक्ता ठगी का शिकार नहीं हों.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: