NEWS

राज्यपाल जगदीप धनखड़ का ममता सरकार पर फिर निशाना, कहा- राज्य में पुलिस का शासन है

विज्ञापन

Kolkata : बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने पुलिस प्रशासन के मुद्दे पर मंगलवार को एक बार फिर ममता बनर्जी सरकार पर हमला बोला. उन्होंने कहा कि राज्य में पुलिस का शासन है जिसने अत्यंत असंवैधानिक स्वरूप धारण कर लिया है. उन्होंने काबिल अधिकारियों की अनदेखी के आरोप भी लगाये.

राज्यपाल ने भारतीय पुलिस सेवा (आइपीएस) तथा भारतीय प्रशासनिक सेवा (आइएएस) संगठनों से स्थिति पर ध्यान देने का भी आग्रह किया.

इसे भी पढ़ेंः औंधे मुंह गिरती इकोनॉमीः फिच का चालू वित्त वर्ष में भारतीय अर्थव्यवस्था में 10.5 % की गिरावट का अनुमान

आइएएस व आइपीएस अधिकारी प्रशासन की रीढ़

राज्यपाल ने ट्वीट कर कहा कि आइएएस तथा आइपीएस अधिकारी अपनी काबिलियत के बल पर अपना रास्ता बनाते हैं और गवर्नेन्स की रीढ़ होते हैं. बंगाल में भी ऐसे कई काबिल अधिकारी हैं, लेकिन अफसोस की बात है, ऐसे सभी को दरकिनार कर दिया गया है. उन्होंने लिखा कि जो राजनैतिक मोहरे बनने के लिए तैयार हैं, वे आगे हैं और सलाहकारों का रोब सहते हैं.

राजनैतिक निष्पक्षता, कानून और संविधान खतरे में

राज्यपाल धनखड़ ने प्रशासनिक अधिकारियों से अपील करते हुए कहा कि अब वक्त आ गया है, जब आइएएस और आइपीएस एसोसिएशन इस स्थिति पर ध्यान दें. उन्होंने एक अन्य ट्वीट में ममता सरकार पर हमला बोलते हुए लिखा, राजनैतिक निष्पक्षता, कानून और संविधान का शासन खतरे में है. राज्य में पुलिस का शासन है जिसने अत्यंत असंवैधानिक रुख अख्तियार कर लिया है.

दिमाग में डर बैठा है और सिर शर्म से झुका है

उन्होंने लिखा कि अफसोस है कि दिमाग में डर बैठा है और सिर शर्म से झुका है. ममता बनर्जी को टैग करते हुए उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि सरकार में बैठे लोगों की मदद से माओवाद को बढ़ावा दिया जा रहा है, गैरकानूनी बम उद्योग फल-फूल रहा है. इसी के साथ उन्होंने स्वामी विवेकानंद का कथन लिखते हुए कहा कि विवेकानंद को याद करें – जागो, इससे पहले कि बहुत देर हो जाये.

इसे भी पढ़ेंः आपराधिक गिरोह पहाड़ी चीता और पुलिस के बीच मुठभेड़ की जांच को CID ने किया टेकओवर

adv
advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button