Corona_UpdatesJharkhandRanchi

कोविड के कारण अनाथ बच्चों का सरकार रखेगी ध्यानः मुख्यमंत्री

  • संक्रमण के दौरान अनाथ हुए बच्चों के संरक्षण के लिए हेल्पलाइन
  • अनाथ बच्चों की देखभाल के बदले दी जायेगी आर्थिक सहायता भी

Ranchi : मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के निर्देश के बाद पूरे राज्य में कोरोना संक्रमण की वजह से अपने माता-पिता को खोनेवाले बच्चों की उचित देखभाल सुनिश्चित करने की प्रक्रिया शुरू हो गयी है.

सरकार का प्रयास होगा कि जिन बच्चों ने संक्रमण के कारण अपने माता-पिता को खो दिया है, वे शोषण या बाल तस्करी में न फंसें. मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद रांची जिला प्रशासन ने भी अन्य जिलों की तरह चाइल्ड केयर हेल्पलाइन जारी किया है.

advt

इसे भी पढें :18 प्लस का नहीं हो रहा रजिस्ट्रेशन, कई लोगों के शेड्यूल कैंसिल

तत्काल सहायता के लिए समर्पित टीम

जिला कल्याण पदाधिकारी द्वारा निगरानी की जानेवाली चाइल्ड केयर हेल्पलाइन में ऐसे मामलों को देखने और तत्काल सहायता प्रदान करने के लिए एक समर्पित टीम गठित की गयी है.

इस आपदा के कारण अनाथ हुए बच्चों की सूचना प्रशासन द्वारा जारी हेल्पलाइन नंबर पर दी जा सकती है. प्रशासन की टीम प्रभावित बच्चों को संरक्षण प्रदान करेगी. बच्चों से संबंधित विस्तृत जानकारी एकत्र करने और आवश्यकता का आकलन करने के बाद जिला बाल कल्याण समिति अंतिम निर्णय लेगी.

देखभाल करनेवाले को सहायता प्रदान की जायेगी

अनाथ हुए बच्चों के परिवार में कोई सदस्य उनकी देखभाल करने के लिए सहमत है, तो उन्हें देखभाल करने के बदले मासिक प्रोत्साहन सहायता दी जायेगी. ऐसे मामलों में बाल कल्याण समिति के सदस्य संबंधित घर का दौरा कर सर्वेक्षण करेंगे कि बच्चा उनके साथ सुरक्षित होगा या नहीं.

यदि बच्चों के लिए कोई केयरटेकर उपलब्ध नहीं है, तो ऐसे मामलों में बच्चों को सरकार द्वारा चलाये जा रहे चिल्ड्रन केयर होम ले जाया जायेगा, जहां उनकी हर तरह से देखभाल सुनिश्चित की जायेगी. इसके अलावा यह हेल्पलाइन उन बच्चों को भी अस्थायी सहायता देगी, जिनके माता-पिता अस्पताल में इलाजरत हैं.

इसे भी पढें :हर जिले में पहुंची वैक्सीन, कल से लगेगा निःशुल्क टीका

इस नंबर पर किया जा सकता है कॉल

केंद्रीय चाइल्ड हेल्पलाइन नंबर 1098 के अतिरिक्त जिला प्रशासन ने व्हाट्सएप नंबर भी जारी किया है.
प्रशासन ने लोगों से अपील भी की है कि वे ऐसे बच्चों का विवरण सार्वजनिक डोमेन में जारी न करें और सीधे हेल्पलाइन को रिपोर्ट करें.

इसे भी पढें :सरकार ने बताया- मई में कोरोना वैक्सीन की कुल 7.30 करोड़ डोज उपलब्ध

Nayika

advt

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: