न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सरकार 25 करोड़ खर्च कर खरीदेगी सैनिटरी नैपकीन

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों से होगा मुफ्त वितरण

1,811

Ranchi: झारखंड सरकार किशोरी बालिकाओं के लिए सैनिटरी नैपकीन की खरीद करेगी. स्वास्थ्य, चिकित्सा और परिवार कल्याण विभाग की तरफ से इसके लिए कंपनियों की चयन प्रक्रिया शुरू की गयी है. अमूमन 25 करोड़ रुपये प्रत्येक वर्ष सैनिटरी नैपकीन खरीदने में खर्च किये जाते हैं. सरकार की तरफ से इनका वितरण सभी जिलों के सामूदायिक स्वास्थ्य केंद्रों से किया जायेगा. सभी जिलों में सरकार के 258 सामूदायिक स्वास्थ्य केंद्र हैं, यहां से प्रत्येक तिमाही सैनिटरी नैपकीन का वितरण किया जायेगा.

इसके लिए झारखंड मेडिकल एंड हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट एंड प्रोक्योरमेंट कारपोरेशन लिमिटेड की तरफ से तीन कंपनियों का चयन किया जायेगा. इन तीनों कंपनियों से 99 लाख सैनिटरी नैपकीन के पैकेट्स खरीदे जायेंगे. सखी के ब्रांड से यह नैपकीन स्कूलों में दिया जायेगा. नैपकीन के पैकेट में कंपनियों को नोट फोर सेल लिखना भी अनिवार्य किया गया है.

सरकार ने तय किया एक स्टैंडर्ड फॉरमैट

राज्य सरकार की तरफ से सैनिटरी नैपकीन की खरीददारी के लिए एक स्टैंडर्ड फॉरमैट भी तैयार किया गया है. 10 ग्राम के वजन का एक सैनिटरी नैपकीन सभी मानकों के अनुरूप होगा. इसकी लंबाई 250 मिमी और चौड़ाई 10 से 11.5 मिमी होगी. राज्य सरकार की तरफ से एक पैकेट में छह नैपकीन होने की बात कही गयी है. एक-एक कंपनी से 11 लाख से अधिक पैकेट्स लिये जायेंगे.

सातवीं से दसवीं कक्षा तक की बालिकाओं को देना है नैपकीन

सरकार की ओर से सातवीं से दसवीं कक्षा में पढ़ रही किशोरी बालिकाओं को मुफ्त में नैपकीन का वितरण किया जाना है. स्वास्थ्य विभाग के सीएचसी से सभी सरकारी, आवासीय और अल्पसंख्यक विद्यालयों में इसका वितरण किया जायेगा.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: