न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

शराबबंदी से किसी भी कीमत पर नहीं होगा कोई समझौताः नीतीश

124

Patna: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को एकबार फिर शराबबंदी को लेकर अपनी प्रतिबद्धता जाहिर की. राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती समारोह वर्ष के शुभारंभ के अवसर पर राज्यस्तरीय कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए उन्होंने कहा कि शराबबंदी के लिए राज्य सरकार पूरी तरह प्रतिबद्ध है और सूबे में इससे कोई समझौता नहीं किया जाएगा.

इसे भी पढ़ेंःशॉटगन का तंजः बीजेपी बनकर रह गई “वन मैन शो, टू मेन आर्मी”

नीतीश ने कहा कि गांधीजी के चंपारण आने के 100 वें वर्ष की शुरुआत में ही पूर्ण शराबबंदी लागू की गई. उन्होंने कहा कि इस दौरान समाज सुधार के अनेक कार्यक्रम चलाए गए और इसके लिए समाज सुधार अभियान की शुरुआत की गई. मुख्यमंत्री ने कहा कि गड़बड़ करने वाले लोगों के साथ कानून सख्ती से कार्रवाई कर रहा है.

‘शराब पैसा ही नहीं अक्ल भी छीन लेती है’

शराबबंदी का समर्थन करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि शराबबंदी के बाद समाज में काफी परिवर्तन आया है और वातावरण बदला है. अब शांति का वातावरण है और शराब छोड़ने के बाद जो पैसे की बचत हो रही है, उसका सदुपयोग बच्चों की अच्छी शिक्षा, खान-पान एवं रहन-सहन पर किया जा रहा है.

इसे भी पढ़ेंःपाकुड़ में मनरेगा घोटाला : शिबू सोरने के नाम पर 1,08,864 रुपये की अवैध निकासी

उन्होंने कहा कि गांधीजी ने कहा था कि शराब न सिर्फ आदमियों से पैसे छिनती है बल्कि अक्ल भी छीन लेती है. शराब पीने वाला इंसान हैवान हो जाता है. शराबबंदी के लिए हमलोग पूरी तरह से प्रतिबद्ध हैं और इससे कोई समझौता नहीं करेंगे. आप पुलिस पदाधिकारियों से भी यह कहना चाहता हूं कि आप जनता के बीच जाकर उन्हें प्रेरित करें और इसके खिलाफ लगातार अभियान चलाते रहें तथा गड़बड़ी करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करें.

सरकारी कार्यालयों लगेंगे में गांधीजी की सीखवाले पोस्टर 

मुख्यमंत्री ने कहा कि 9 जुलाई 2015 को श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल में महिलाओं के एक सम्मेलन में उनकी मांग पर ही हमने शराबबंदी लागू की. इस मौके पर मंच से ही मुख्य सचिव को मुख्यमंत्री ने आदेश दिया कि थाने से लेकर सचिवालय, पुलिस मुख्यालय और सभी सरकारी कार्यालयों में गांधी जी की सीख को पोस्टर के जरिये प्रदर्शित किया जाए. पोस्टर में यह भी उल्लेख करें कि ‘पृथ्वी आपकी जरूरतों को पूरा कर सकती है लेकिन लालच को नहीं.’

इसे भी पढ़ें- पाकुड़ डीसी की PMO में शिकायत- डीसी के तानाशाही रवैये से विकास कार्य ठप, हो न्यायिक जांच

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.


हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Open

Close
%d bloggers like this: