Corona_UpdatesJharkhandLead NewsRanchi

कोरोना संकट में चिकित्सा, कृषि, रोजगार को प्राथमिकता देने को सरकार बनायेगी विशेष योजनाएं

सीएम मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से लोक कल्याणकारी योजनाओं की प्रगति की करेंगे समीक्षा

Ranchi: सीएम हेमन्त सोरेन मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सभी विभागों की समीक्षा करेंगे. इस क्रम में राज्य सरकार द्वारा संचालित सभी महत्वपूर्ण लोक कल्याणकारी योजनाओं की समीक्षा की जायेगी.

इस संबंध में सीएस द्वारा पत्र जारी किया गया है. इसमें विभिन्न विभागों के सचिवों से अनुरोध किया गया है कि वे विभिन्न योजनाओं के कार्यान्वयन के लिए एक कार्य योजना के साथ उपस्थित हों.

advt

इससे महामारी के इस दौर में राज्यवासियों को और राहत पहुंचायी जा सकेगी. खासकर चिकित्सा, शिक्षा, कृषि और रोजगार (मनरेगा) के विषयों पर सरकार की विशेष नजर रहेगी.

इसे भी पढ़ें :6 मई तक राज्य में बारिश की संभावना, 50 किलो मीटर प्रति घंटा की रफ्तार से चलेगी हवाएं

राहत बढाने का हो रहा है प्रयास

कोरोना महामारी की दूसरी लहर के दौरान संक्रमण के मामलों में अचानक वृद्धि हुई है. वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सीएम ने राज्य भर में दो सप्ताह के लिए स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह की घोषणा की.

लेकिन चिकित्सा सेवाओं, कृषि गतिविधियों, एफएमसीजी और मनरेगा जैसी सभी आवश्यक और आपातकालीन सेवाएं जो ग्रामीण अर्थव्यवस्था की रीढ़ हैं, को अनवरत जारी रखा. बैठक में इस पर विशेष चर्चा रहने की उम्मीद है.

इसे भी पढ़ें :बांग्लादेश की किसी दवा कंपनी ने रेमेडिसिवर सप्लाई केलिए भारत सरकार को आवेदन नही किया : बाबूलाल

विभागों को मिला गंभीरता से तैयारी करने का टास्क

महामारी के कारण कई योजनाओं का कार्यान्वयन प्रभावित हुआ है. इसे देखते हुए राज्य की गरीब आबादी को राहत देने के लिए सीएम ने विभिन्न विभागों के सचिवों को एक कार्य योजना के साथ बैठक में भाग लेने का आदेश दिया है ताकि कोरोना महामारी से लड़ते हुए विभाग यह सुनिश्चित कर सके कि राज्य सरकार द्वारा संचालित योजनाओं का लाभ सभी जरूरतमंदों को मिल सके.

स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह के अलावा झारखंड के लोगों के लिए हर संभव स्वास्थ्य सुविधा की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए राज्य सरकार द्वारा कई कदम उठाए जा रहे हैं.

राज्य भर में ऑक्सीजन बेड, आई सी यू और वेंटीलेटर बेड बढ़ाए गए हैं. इसके अलावा रांची और जमशेदपुर जैसे शहरों में संक्रमण से पीड़ित लोगों को ऑक्सीजन बेड प्रदान करने के लिए कोविड सर्किट का संचालन किया जा रहा है.

सरकार मानती है कि वित्तीय वर्ष 2021-22 के बजट में कई प्रमुख योजनाओं की घोषणा की गई थी. ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने, युवा आबादी को रोजगार प्रदान करने और महिला सशक्तिकरण पर मुख्य ध्यान केंद्रित किया गया था.

इनमें मुख्यमंत्री मुद्रा योजना योजना, मुख्यमंत्री रोजगार गारंटी योजना, मारंग गोमके जयपाल सिंह मुंडा पारदेशिये छात्रवृत्ति योजना, फूलो-झानो आशीर्वाद योजना, सभी के लिए पीने के साफ पानी की योजनाएं, युनिवर्सल पेंशन योजना जैसी योजनाएं शामिल हैं.

हालांकि इन योजनाओं का काफी हद तक लाभ जरूरतमंदों को देकर उनके आर्थिक स्वावलंबन का मार्ग प्रशस्त किया गया, लेकिन महामारी की वजह से कुछ योजनाएं प्रभावित हुईं हैं.

इसे भी पढ़ें :दर्दनाक हादसा : आल्टो कार व मिलिट्री ट्रक के बीच सीधी टक्कर, तीन की मौत

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: