न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

सरकार करेगी पिछड़ा वर्ग वित्त विकास निगम का गठन : मुख्यमंत्री

2,603

Ranchi : मुख्यमंत्री रघुवर दास ने पिछड़े वर्ग की स्थिति को लेकर पिछड़ा वर्ग वित्त विकास निगम का गठन करने की घोषणा की है. राज्य सरकार इस निगम को वित्तीय वर्ष 2019-20 के बजट में पांच करोड़ की राशि उपलब्ध कराएगी. सीएम ने उक्त बातें सोमवार को झारखंड मंत्रालय में आयोजित पिछडा वर्ग आयोग समीक्षा बैठक के दौरान कही. उन्होंने कहा कि इससे पिछड़ा वर्ग के युवाओं को आसानी से ऋण उपलब्ध हो सकेगा और उन्हें ऋण में सब्सिडी भी उपलब्ध करायी जाएगी.

eidbanner

प्रत्येक जिले में पिछड़ा वर्ग का सर्वेक्षण

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में पिछड़ा वर्ग का जिलावार सर्वेक्षण कराया जाएगा और सर्वेक्षण के आधार पर उनकी आबादी के अनुरूप पिछड़ा वर्ग को आरक्षण सहित अन्य सुविधाओं का लाभ दिया जाएगा. उन्‍होंने कहा कि पिछले विधानसभा के कार्यवाही के दौरान विधायक शिवशंकर उरांव तथा अन्य विधायकों ने पिछड़ा वर्ग वित्त विकास निगम बनाए जानें और इसका जिलावार सर्वेक्षण कराए जाने की मांग की थी. साथ ही समय-समय पर कई सामाजिक संगठनों एव संस्थाओं द्वारा भी इस आशय की मांग की जाती रही है. इसी के अनुरूप राज्य सरकार ने सम्यक रूप से विचार कर यह निर्णय लिया है.

एससी और एसटी युवाओं को भी ऋण में सब्सिडी

मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले से गठित अनुसूचित जनजाति विकास निगम (टीसीडीसी) और अनुसूचित जाति विकास निगम’(एससीडीसी) के माध्यम से अनुसूचित जनजाति (एससी) एवं अनुसूचित जाति (एससी) के युवाओं को सुगमता से ऋण मिलने की बात कही. उन्होंने कहा कि दोनों ही निगमों को सुदृढ़ करने के लिए वित्तीय वर्ष 2019-20 के बजट में पांच-पांच करोड़ की राशि उपलब्ध करायेगी. इससे अनुसूचित जनजाति एवं अनुसूचित जाति के युवाओं को आसानी से ऋण उपलब्ध हो सकेगा और उन्हें ऋण में सब्सिडी भी उपलब्ध करायी जाएगी.

Related Posts

जून के बाद जिला आपूर्ति पदाधिकारियों पर सीधी कार्रवाई, जिनके यहां किसानों का भुगतान लंबित : सरयू राय

  जिन जिलों में अधिक धान बेचनेवाले किसानों का भुगतान लंबित है, उन जिलों पर होगी कार्रवाई

बैठक में उपस्थित रहे ये अधिकारी

बैठक में राज्य पिछड़ा आयोग के अध्यक्ष एलएन प्रसाद,  मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी,  अपर मुख्य सचिव वित्त सुखदेव सिंह,  मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव डॉ सुनील कुमार वर्णवाल, अनुसूचित जनजाति, अनुसूचित जाति, अल्पसंख्यक एवं पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग की सचिव हिमानी पाण्डे समेत अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें : कुणाल के ‘बपौती’ शब्द के इस्तेमाल पर, प्रतुल ने कहा- यही है जेएमएम का ‘राजनीतिक…

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: