न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सरकार ने प्रचार-प्रसार का छोड़ा नया शिगूफा, अब जनता को मिलनेवाली परिसंपत्तियों पर होगी सीएम की तस्वीर

497

Ranchi : अपने प्रचार-प्रसार के लिए रघुवर सरकार ने अब एक नया शिगूफा छोड़ा है. दरअसल, सरकार द्वारा गरीबों व जरूरतमंदों के बीच वितरित की जानेवाली परिसंपत्तियों पर अब मुख्यमंत्री की तस्वीर लगी हुई होगी. इस संबंध में राज्य सरकार की ओर से एक आदेश भी जारी किया गया है, जिसमें परिसंपत्तियों पर मुख्यमंत्री की तस्वीर समेत स्टिकर चिपकाने को कहा गया है. इसके अलावा झारखंड सरकार का लोगो भी रहेगा. जिले के सभी उपायुक्तों को इसके आदेश की कॉपी भेज दी गयी है. इस पर सक्रियता दिखाते हुए रांची डीसी राय महिमापत रे ने भी आदेश जारी करते हुए जिले के सभी अधिकारियों को इसका पालन करने को कहा है.

परिसंपत्तियां सरकार की संपत्ति होती हैं, यह किसी सीएम की निजी संपत्ति नहीं : जेएमएम

इस विषय पर जेएमएम के सुप्रियो भट्ठाचार्य ने कहा कि परिसंपत्तियां सरकार की संपत्ति होती है, यह मुख्यमंत्री की निजी सपत्ति नहीं है और न ही उन्हें यह संपत्ति विरासत में मिली है. लेकिन, जिस प्रकार गाना है- राम-राम जपना पराया माल अपना, उसी प्रकार रघुवर दास भी पराये माल को अपना समझते हैं. उन्होंने कहा कि घटिया सोच रखनेवाली यह सरकार बीते चार वर्षों में नाकाम हो चुकी है. राज्य सरकार को अब सभी डीसी एवं डीएम को यह आदेश दे देना चाहिए कि वे घर-घर जाकर मुख्यमंत्री की तस्वीर चिपका दें, क्योंकि अब कुछ दिनों बाद ही वे पूर्व मुख्यमंत्री कहलानेवाले हैं.

यह सिर्फ होर्डिंग और पोस्टर की सरकार है : कांग्रेस

इधर, कांग्रेस के प्रवक्ता राजेश ठाकुर ने कहा कि यह सरकार सिर्फ होर्डिंग, बोर्डिंग और पोस्टर बैनर की सरकार रह गयी है. जो सरकार काम करती है, उसे बताने की जरूरत नहीं रहती. होर्डिंग, बोर्डिंग से सरकार चलनेवाली नहीं. समय आने पर जनता इसका माकूल जवाब देगी. राजेश ठाकुर ने कहा कि इससे पूर्व भी अर्जुन मुंडा की सरकार में ऐसा ही प्रयास किया गया था, लेकिन इसका भी नतीजा सबने देखा है.

इसे भी पढ़ें- धरी की धरी हैं पुरानी योजनाएं, अब बड़ा तालाब बनेगा मरीन ड्राइव

इसे भी पढ़ें- सालाना पौधारोपण पर 75 करोड़ का खर्च,अब परियोजनाओं के लिए काटे जायेंगे 9.50 लाख पेड़

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: