न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

प्रचार-प्रसार में सरकार ने फूंके करोड़ों, कार्यक्रम में आये लोगों को योजना के बारे में पता तक नहीं

बसों, ट्रेकर, ऑटों में भरकर लाये गये लोग

1,328

Ranchi: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खुश करने के लिए झारखंड के चप्पे-चप्पे से लोगोंं को लाया गया. स्कूल बसों, ट्रेकर, बोलेरो, टेंपो जैसे तमाम वाहनों में लोगों को भर-भर कर लाया गया. लेकिन जो लोग दूर-दराज के गांवों से रांची आये थे, उन्हें यह भी पता नहीं था कि धुर्वा के प्रभात तारा मैदान में उन्हें क्यों लाया गया है. ज्यादातर महिलाओं से बात करने पर यही मालूम हुआ कि उन्हें बस प्रधानमंत्री आ रहे हैं इतना ही पता है. न्यूज विंग टीम ने कार्यक्रम की समाप्ति पर लोगों की राय जानने की कोशिश की.

गुमला से आयी मालो देवी ने बताया कि सुबह 7 बजे ही लोग घर पर आ गये और जल्दी चलो, रांची चलना है कहने लगे. पूछने पर बताया कि प्रधानमंत्री आ रहे हैं इसलिए रांची चलना है. आयुष्मान भारत की योजना पर पूछने पर कहा कि इसके बारे में कुछ पता नहीं. खाना के नाम पर नाश्ते का पैकेट दिया गया, जिसमें बुंदिया, समोसा और केला दिया गया था.

Aqua Spa Salon 5/02/2020

प्रधानमंत्री से मिलने आये हैं : सुनीता तिर्की

सुनीता तिर्की

गुमला की ही सुनीता तिर्की ने बताया की प्रधानमंत्री से मिलने आये हैं. योजना के बारे में जानकारी तो नहीं है, बस इतना मालूम है बीमा होना है. सभी बीमार लोगों का ईलाज सरकार करायेगी.

मोहन उरांव ने कहा कि हमलोगों को बुलाया गया है. बताया गया प्रधानमंत्री आ रहे हैं, इसलिए सब को रांची बुलाया गया है. खर्चा और खाना पीना भी दिया जायेगा. योजना के बारे में कुछ नहीं मालूम.

लोहरदगा के रमेश मुंडा के बताया कि आयुष्मान भारत के बारे में ज्यादा जानकारी तो नहीं लेकिन इतना पता है कि लोगों की बीमारी में सरकार मदद करेगी. लेकिन यह होगा कैसे यह कोई नहीं बता रहा.

इम्पलीमेंट भी तो होना चाहिए : रश्मि 

रश्मि कुमारी

लोहरदगा निवासी रश्मि कुमारी ने कहा कि योजना तो ठीक है, लेकिन सरकार तो कई प्रकार योजनाएं लाती है. उनका सही से इम्पलीमेंट नहीं हो पाता है. इससे पहले भी राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना लागू की गयी थी, लेकिन उसका पूरा लाभ सिर्फ अस्पताल को मिला, गरीबों को कोई लाभ नहीं मिल पाया.

 

रैली में आये हैं : सरिता

खूंटी की सरिता कुमार ने बताया कि प्रधानमंत्री की रैली में आयी हैं. योजना के बारे में पूछने पर उन्होंने भी इसकी जानकारी नहीं होने की बात कही.

सरिता कुमारी

जिस योजना की लांचिंग रविवार को की गयी, एवं जिसके लिए बसों में भेड़-बकरी की तरह लोगों को भर-भर कर लाया गया, उसी योजना के बारे में ज्यादातर लोगों को कुछ पता भी नहीं. सरकार ने सिर्फ आयुष्मान भारत की योजना के प्रचार-प्रसार में करोड़ों रुपये फूंक डाले, लेकिन झारखंड के अधिकतर लोगों को योजना की कोई जानकारी नहीं. शहरी क्षेत्र के लोगों को छोड़ दिया जाये तो ग्रामीण और सुदूर क्षेत्रों के लोगों को यह भी पता नहीं कि बीमा के लिए कोई योजना सरकार लेकर आ रही है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like