न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

कौशल विकास और मोमेंटम झारखंड पर श्वेत-पत्र जारी करे सरकार : झाविमो

56

Ranchi : झाविमो के केंद्रीय प्रवक्ता योगेंद्र प्रताप ने कहा कि रघुवर सरकार द्वारा ग्लोबल स्किल समिट 2019 में एक लाख युवाओं को निजी कंपनियों में नौकरी देने की बात कहना केवल छलावा है. रघुवर सरकार केवल बड़ा आयोजन का तिलिस्म रचकर नौजवानों को खुलेआम झांसा दे रही है. सरकार युवाओं-नौजवानों को रोजगार उपलब्ध कराने में पूरी तरह विफल है, इसके नाम पर केवल नौटंकी व तमाशा कर रही है. पिछले वर्ष जनवरी में भी सरकार ने 31 सेक्टरों में कुल 27842 युवाओं को नौकरी दी थी. इनमें से वर्तमान में कितने युवा नौकरी कर रहे हैं, पहले उन तमाम 27842 युवाओं का नाम व पता, संबंधित कंपनियों के नाम व शहर का नाम और उनके वेतन सहित तमाम ब्योरा और गुरुवार को जिन एक लाख युवाओं को सरकार ने नौकरी दी है, मोमेंटम झारखंड से अब तक हुए निवेश पर सरकार को श्वेत-पत्र जारी करने की जरूरत है. इनमें से कितनी सरकारी नौकरी है, इसे भी स्पष्ट करना चाहिए. युवा बेहतर भविष्य का सपना संयोजे नौकरी करने तो जाते हैं, परंतु वहां जाते ही उन्हें निराशा हाथ लगती है.

eidbanner

उन्होंने कहा कि प्लेसमेंट एजेंसियां नौकरी के दौरान न्यूनतम वेतन देने के साथ क्या-क्या सलूक करती हैं, सरकार इससे अनजान नहीं है. इसके बावजूद वह युवाओं को गुमराह करने पर आमादा है. कौशल विकास के नाम पर क्या-क्या खेल खेले जाते रहे हैं, यह भी किसी से छिपा नहीं है. सरकार जानती है कि 80-90 फीसदी युवा नियुक्ति के बाद टिकेंगे नहीं, फिर भी वह राज्यवासियों की आंखों में धूल झोंकने का काम कर रही है. युवाओं को चंद हजार रुपये की नौकरी का झांसा देकर महानगरों में भेजने के बजाय सरकार झारखंड में ही रोजगार के अवसर पैदा करने की दिशा में काम क्यों नहीं करना चाहती है?

इसे भी पढ़ें- नहीं हो पा रहा ILO 189 के निर्देशों का पालन, घरेलू कामगारों के लिए बनाना था कानून

इसे भी पढ़ें- स्किल समिट में नौकरी लेने आये युवाओं ने कहा- बेवकूफ बना रही सरकार

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: