Corona_UpdatesEducation & Career

दूरदर्शन के कार्यक्रम के जरिये पढ़ाई पूरी करेंगे सरकारी स्कूल के बच्चे, 11 मई से हर तीन घंटे का एडुकेशनल प्रोग्राम

विज्ञापन

Ranchi: लॉकडाउन के दौरान सरकारी स्कूल के बच्चे अपनी पढ़ाई पूरी कर सकें इसके लिए दूरदर्शन से कार्यक्रम प्रसारित किया जायेगा. इसकी शुरुआत 11 मई से होगी, जो 10 जून तक चलेगा. दूरदर्शन पर हर दिन 3 घंटे पढ़ाई होगी. 11 मई सोमवार से शुक्रवार तक हर रोज दो शिफ्ट में डिजिटल क्लास चलाया जायेगा.

इसे भी पढ़ेंः#CoronaPositive आने के बाद रोने लगी नर्स, जिस वार्ड में कर रही थी मरीजों का इलाज अब वहीं हुई भर्ती

दूरदर्शन की ओर से चलाये जाने वाले तीन घंटे के इस डिजिटल क्लास का पहला एक घंटा नि:शुल्क होगा. इसके बाद के दो घंटे के शिक्षा परियोजना फीस देगा. डिजिटल क्लास सोमवार से शुक्रवार तक प्रतिदिन दो शिफ्ट में चलेगी.

advt

14,160 रुपये प्रतिदिन देगा जेइपीसी

स्कूली बच्चों के लिए दूरदर्शन में प्रसारित होने वाले डिजिटल कंटेंट के प्रसारण लिए झारखंड शिक्षा परियोजना (जेइपीसी) के साथ हुए करार के मुताबिक सुबह 10 बजे से 12 बजे तक और दोपहर एक बजे से दो बजे तक इसका प्रसारण किया होगा.

दूरदर्शन हर दिन एक घंटे का प्रसारण फ्री करेगा, जबकि दो घंटे के लिए झारखंड शिक्षा परियोजना 14,160 रुपए प्रतिदिन के आधार पर दूरदर्शन को देगा. परियोजना की ओर से एक महीने के करार में दूरदर्शन को 2,83,200 रुपये का भुगतान किया जायेगा. दूरदर्शन को कंटेंट उपलब्ध कराने की जिम्मेदारी जेईपीसी ने डॉक्टर अभिनव कुमार और जेसीईआरटी के कीर्तिवास कुमार को दी गयी है. जेईपीसी के राज्य परियोजना निदेशक उमाशंकर सिंह ने डिजिटल कंटेंट तैयार कराने के लिए 6 लोगों की तकनीकी समिति भी गठित की है.

इसे भी पढ़ेंःबिहार में कोरोना के सात नये केस, मरीजों की संख्या पहुंची 542

दूरदर्शन के डिजिटल क्लास का शेड्यूल

10 से 10:30 बजे तक: यूनिसेफ द्वारा तैयार मीना मंच और जीवन कौशल आधारित प्रसारण

adv

10:30 बजे से 11 बजे तक: पहली से पांचवी कक्षा के लिए प्रसारण

11:00 बजे से 12 बजे तक: छठी से नौवीं और 11वीं कक्षा के लिए प्रसारण

एक बजे से दो बजे तक: 10वीं और 12वीं कक्षा के लिए प्रसारण

यूट्यूब से भी लाभ ले सकेंगे स्टूडेंट्स

दूरदर्शन पर प्रसारित होने वाले डिजिटल कंटेंट को यूट्यूब पर भी प्रसारित किया जायेगा. इसका मकसद अधिक से अधिक संख्या में स्टूडेंट्स को जोड़ना है. साथ ही सभी लोकल केबल नेटवर्क वालों को भी दूरदर्शन के चैनल को निःशुल्क प्रसारित करने को कहा गया है. दूरदर्शन की ओर से उपलब्ध कराये जाने वाले डिजिटल कंटेंट की जानकारी दूरदर्शन और आकाशवाणी के माध्यम से दी जायेगी.

इसे भी पढ़ेंः#RIMS: चयनित होने के बाद भी आखिर क्यों नहीं हो रही लैब टेक्निशियंस की नियुक्ति?

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button