न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

दिव्यांग और वृद्धा पेंशन का कोटा बढ़ायेगी सरकारः मुख्यमंत्री

102

Pakur: झारखंड की सवा तीन करोड़ जनता और झारखंड को गरीबी से निकालना है. इस गरीबी को निकालने के लिए कई योजनाएं संचालित की जा रहीं हैं. आप सभी बाबा भीम राव अम्बेडकर द्वारा निर्मित संविधान में प्रदत अधिकार के प्रति जागरूक हों. अपनी समृद्धि का मार्ग प्रशस्त करें. भ्रष्टाचार और बिचौलिया संथाल परगना समेत पूरे झारखंड में मौजूद हैं. आपको जागना होगा तभी ये समाप्त होंगे. इन सब से सबसे ज्यादा परेशानी गरीब को होती है. ये बातें मुख्यमंत्री रघुवर दास ने सोमवार को पाकुड़ दौरे के तीसरे चरण में महेशपुर प्रखंड के अभुआ पंचायत स्थित मुर्गाडंडा गांव में आयोजित जन चौपाल में कहीं.

सरकार किसान,  नौजवान,  गरीब,  महिलाओं के स्वावलंबन के प्रति समर्पित

सीएम ने कहा कि चाय बेचने वाला प्रधानमंत्री और एक मजदूर परिवार का मजदूर आज राज्य का मुख्यमंत्री बना है. यह सरकार किसान, नौजवान, गरीब, महिलाओं के स्वावलंबन के प्रति समर्पित है. मुख्यमंत्री ने कहा कि अलग राज्य बनने के बाद से 14 साल तक अस्थिर सरकार की वजह से लोगों का सपना अधूरा रह गया. लेकिन 2014 में आपने एक मजबूत सरकार देकर झारखंड को धन्य किया. विगत चार साल में झारखंड विकास के पथ पर अग्रसर है. आज देश मे झारखंड की पहचान तेजी से आगे बढ़ती राज्य के रूप में हो रही है.

किसानों ने मान बढ़ाया, अब श्वेत क्रांति का आगाज करें

मुख्यमंत्री ने कहा कि 2014 में राज्य की कृषि विभाग दर -4.5 थी. आज 4 साल बाद राज्य की कृषि विकास दर 14% से अधिक है. यह हम नहीं नीति आयोग कहता है. राज्य के किसानों ने झारखंड का मान देश में बढ़ाया है. राज्य सरकार ने किसानों की क्षमता को देखकर 52 किसानों को इजरायल भेजा ताकि उनकी क्षमता और वैज्ञानिक पद्धति की बदौलत राज्य की कृषि विकास दर बढ़े. आने वाले दिनों में राज्य की 50 महिला और 50 पुरुष किसानों को इजरायल व फिलीपींस भेजेगी. छोटे किसानों की जरूरतों को ध्यान में रखकर बजट में प्रावधान किया जाएगा. ऐसे किसानों को रियायत दर पर कृषि उपकरण उपलब्ध कराया जाएगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि मत्स्य उत्पादन में हम अग्रणी हो चुके हैं अब राज्य की किसान, सखी मंडल की महिलाएं और युवा आगे आएं और गोपालन कर श्वेत क्रांति के वाहक बनें.

राज्य सरकार वृद्ध, विधवा और दिव्यांग को प्राथमिकता दे रही

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार वृद्ध,  विधवा और दिव्यांग को प्राथमिकता दे रही है. इसके लिए 2019-20 के बजट प्रावधान किया जाएगा. पाकुड़ में भी सर्वे करा कर विधवाओं, दिव्यांगों और वृद्धों की पहचान की जायेगी. दिव्यांगो और वृद्धों पेंशन की राशि और पेंशन पाने वालों की संख्या में इजाफ़ा किया जायेगा. सभी को पारदर्शिता से पेंशन प्रदान किया जायेगा.

थर्ड और फोर्थ ग्रेड में जिला के स्थानीय युवा को ही नौकरी

श्री दास ने कहा कि पूर्व में अगर स्थानीय नीति परिभाषित हो जाती तो आज राज्य के युवा को रोजगार मिलता. इसकी अनदेखी हुई. वर्तमान सरकार ने स्थानीय नीति को परिभाषित किया और रोजगार का मार्ग प्रशस्त किया. तृतीय और चतुर्थ वर्ग में उस जिला के स्थानीय युवा को ही रोजगार मिलेगी, जिस जिले से वेकेंसी आयेगी. श्री दास ने एक सवाल के जवाब में कहा कि 18 हजार शिक्षकों की नियुक्ति जल्द होगी. साथ ही प्राथमिक शिक्षकों की सीधी नियुक्ति सीट शेष रहने पर होगी. इस अवसर पर उपायुक्त, उप विकास आयुक्त,  पुलिस उप महानिरीक्षक, पुलिस अधीक्षक समेत अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ेंः पलामू: 22 पीजीटी शिक्षकों को मिला नियुक्ति पत्र, देखिये सूची

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: