न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

तीन हजार पेंशन देकर आंदोलनकारियों का अपमान कर रही है सरकार 

सरकार आंदोलनकारियों को मरणोपरांत दे राजकीय सम्मान

146

Dhanbad : झारखंड वनांचल आंदोलनकारी मोर्चा के तत्वाधान में शनिवार को रणधीर वर्मा चौक पर झारखंड आंदोलनकारियों ने धरना देकर रोष प्रकट किया.मोर्चा के राज्य के मुख्य संयोजक राजेंद्र महतो ने कहा कि राज्य में आये दिन आंदोलनकारियों की आकस्मिक मौत हो रही है. परंतु प्रशासन बताये कि आजतक कितने आंदोलनकारियों को मरणोपरांत राजकीय सम्मान के साथ अंतयोष्‍टी किया है. उन्होंने कहा कि देश में सबसे ज्यादा और लंबी लड़ाई झारखंड अलग राज के लिए लड़ने वाले आंदोलनकारी को सरकार 3000 देती है. वहीं मात्र 40 माह के जेपी आंदोलन कार्यों को 5000 पेंशन देखकर आंदोलनकारियों को सरकार अपमान कर रही है.

इसे भी पढ़ें-पेट्रोलियम पदार्थ की कीमत में बढ़ोतरी के खिलाफ कांग्रेस का प्रदर्शन

जो चेक मिलता है वह भी बाउंस कर जाता है 

उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में आंदोलनकारियों को ₹21000 मिलता है. वहीं झारखंड आंदोलनकारियों को 3000  देकर झारखंड सरकार अपमान और उपेक्षा कर रही है. उन्होंने कहा कि 18 वर्षों तक आंदोलनकारियों को चिन्हित न कर पाना झारखंड सरकार की इससे बड़ी विफलता का परिचय है. देबू महतो ने कहा कि आंदोलनकारियों के साथ सरकार नाइंसाफी हो रही है. आंदोलनकारी कभी धनबाद तो कभी रांची के चक्कर लगाते लगाते थक चुके हैं. किसी भी आंदोलकारी को चेक मिलती है तो वह भी बाउंस कर जा रही है. झारखंड सरकार की आदेश को जिला प्रशासन तवज्जों नहीं देती है. जिस कारण अबतक आंदोलनकारियों को सम्मान समारोह रखना उचित नहीं समझा.

इसे भी पढ़ें-गैरमजरूआ जमीन को वैध बनाने का चल रहा खेल, राजधानी के पुंदाग में खाता संख्या 383 की काटी जा रही लगान…

ब्लॉक में बीडीओ बात करना भी मुनासिब नहीं समझते

उन्होंने कहा कि यह दुर्भाग्य की बात है कि हमारे आंदोलनकारी साथी यहां के सामाजिक राजनीतिक और पहचान के लिए आंदोलन कर अलग राज्य लिए परंतु आज उन्हें यहां के अधिकारी तक नहीं पहचानते हैं. आंदोलनकारियों की राजकीय सम्मान तो दूर की बात ब्लॉक में बीडीओ वार्ता करना भी मुनासिब नहीं समझते हैं. जिला प्रशासन धनबाद के चिन्हित आंदोलनकारी को अविलंब सम्मानित करें. मौके पर हाबूलाल गोराई,  नारायण महतो, फनी भूषण मंडल, गुलाब चंद सिंह, राजकुमार अग्रवाल, सुशीला देवी, मोहम्मद गुलाब, रावण महतो, श्याम सुंदर पांडे, नारायण दास, दिनेश कुमार महतो, उपेंद्र प्रसाद महतो, शिव शंकर महतो, जीतू साव, ईश्वर मरांडी, उमा यादव, रावण महतो, हराधन मोदी, लखन चंद महतो, ज्योति लाल रवानी सहित सैकड़ों आंदोलनकारी धरना में शामिल हुए.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: