JharkhandLead NewsRanchi

दवा नहीं दारू की होम डिलवरी कराने पर उतारू है सरकार : दीपक प्रकाश

Ranchi : भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने कहा कि राज्य सरकार कोरोना काल में घर-घर दवा पहुंचाने के बजाय दारू की होम डिलवरी कराने पर उतारू है. यह सरकार की जनविरोधी नीति है और भाजपा इसका घोर विरोध करती है. कहा कि सरकार के लिए दवा के बजाय शराब प्राथमिकता है. उन्होंने कहा कि सरकार हर घर बिजली, पानी, बच्चों को किताब, गांव गांव तक सड़क पहुंचाने में असफल है. गरीबों को भोजन, बीमार को दवा, किसान को बीज देने के बजाए लोगों को शराब पिलाने पर उतारू है. हेमंत सरकार दवा पहुंचाने के बजाए कफन देने में भरोसा रखती है. ऐसी सरकार से प्रदेश और प्रदेश की जनता का कभी भला नहीं हो सकता है.

Sanjeevani

उन्होंने कहा कि राजस्व बढ़ाने के लिए कई साधन हैं किंतु इस सरकार में नेतृत्व विहीनता के कारण राजस्व बढ़ाने के लिए शराब का सहारा लिया गया है. उन्होंने कहा कि सरकार ने दवा पहुंचाने के लिए एप नहीं बनाया किन्तु शराब होम डिलीवरी के लिए ऐप लांच कर रही है.

MDLM

इसे भी पढ़ें:JSSC : अप्रैल के पहले सप्ताह में होगी सामान्य स्नातक योग्यताधारी संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा, एग्जामिनेशन कैलेंडर जारी

शिक्षा मंत्री का बयान असंवैधानिक

दीपक प्रकाश ने शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो के बयान पर भी तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि शिक्षा मंत्री का बयान संघीय ढांचा को तोड़नेवाला है. जिसमें उन्होंने डीवीसी को कोयला पानी रोकने की बात कही है. उन्होंने कहा कि एक संवैधानिक पद पर बैठे व्यक्ति से ऐसी भाषा की उम्मीद नहीं की जा सकती.

इसे भी पढ़ें:बंधु तिर्की ने मुख्यमंत्री से सरकारी वकील के रूप में आदिवासी वकीलों को नियुक्त करने की मांग की

Related Articles

Back to top button