न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

शराबबंदी पर पहल कर सकती है सरकार, लेकिन पहले स्वयं आगे आयें लोग : सीपी सिंह

101

Ranchi : गोंदा थाना क्षेत्र स्थित हातमा बस्ती में जहरीली शराब पीने से सात लोगों की मौत के बाद नगर विकास मंत्री सीपी सिंह ने कहा कि राज्य में पूर्ण शराबबंदी की ओर सरकार पहल सकती है, लेकिन इसके लिए जरूरी है कि समाज के लोग पहले स्वयं अपने स्तर पर पहल करें. मंत्री बुधवार को हातमा बस्ती में सरना समाज की तरफ से आयोजित बैठक को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि स्थानीय समाज के लोगों को यह समझना होगा कि कैसे ये लोग आज भी गरीबी रेखा से नीचे जीवनयापन कर रहे हैं. जबकि बाहर से आये कई लोगों ने अपनी मेहनत से अपने लिए एक बेहतर जीवन तैयार किया है. इस दौरान उन्होंने बस्ती पहुंच कई लोगों से मुलाकात की. साथ ही पीड़ित परिवार को सांत्वना दी.

इसे भी पढ़ें- जहरीली शराब से 7 की मौत के बाद पुलिस हुई रेस, शराब माफियाओं की तलाश जारी

अवैध शराब बेचनेवालों को दी चेतावनी

मंत्री सीपी सिंह ने लोगों से कहा कि हमारे समाज के ही लोग हमारे लोगों को जहरीली शराब पिलाकर पैसा कमाना चाहते हैं. ऐसे लोगों पर सरकार अब कड़ी नजर रखेगी. अवैध शराब बनाने व बेचनेवालों को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा कि कोई भी व्यक्ति ऐसा करते हुए पाया जाता है, तो उन पर कानूनी कार्रवाई कर उन्हें जेल भेजा जायेगा, चाहे इस कार्य में कोई भी व्यक्ति क्यों नहीं लगा हो. इस दौरान मेयर आशा लकड़ा, डिप्टी मेयर संजीव विजयवर्गीय, नगर आयुक्त मनोज कुमार सहित कई स्थानीय लोग उपस्थित थे.

महिलाओं का सजग होना प्रशंसनीय

नगर विकास मंत्री ने कहा कि किसी भी गरीब की जिंदगी से खिलवाड़ करने की किसी को कोई छूट नहीं है. बैठक में महिलाओं ने शराबबंदी का मुद्दा उठाया. इस पर उन्होंने कहा कि सरकार भी चाहती है कि राज्य में पूर्ण शराबबंदी हो, लेकिन इसके लिए जरूरी है कि लोग अपने स्तर पर पहले प्रयास करें. केवल प्रशासनिक कदम उठा लेने से शराबबंदी जैसी योजना लागू नहीं हो सकती. इसके लिए जरूरी है कि लोग पहल करें. उन्होंने कहा कि हातमा बस्ती में हुई दर्दनाक घटना के बाद अब इलाके की महिलाएं सजग हो गयी हैं. मंगलवार को उन्होंने जिस तरह घर-घर जाकर अवैध शराब बेचने और बनानेवालों के खिलाफ अभियान चलाया, वह काफी प्रशंसनीय है. उन्होंने अवैध शराब बनाने व बेचनेवालों को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा कि शराब निर्माण कार्य में जो भी शामिल हो, उसे कानूनी कार्रवाई कर जेल भेजा जायेगा.

इसे भी पढ़ें- झारखंड हाईकोर्ट में सशरीर हाजिर हुए डीजीपी, कोर्ट ने लगाई फटकार

आत्ममंथन कर भविष्य सुधारें लोग

palamu_12

सीपी सिंह ने कहा कि आज राज्य के कई आदिवासियों के पास जल, जंगल, जमीन की स्थिति काफी मजबूत है. इसके बावजूद इस समाज में आज भी कई ऐसे परिवार हैं, जिनमें लोग गरीबी रेखा से नीचे जीवन-यापन कर रहे हैं. जबकि राज्य में आये कई बाहरी लोग संभ्रात जीवन व्यतीत कर रहे हैं. देखा जाये कि इसके पीछे कहीं न कहीं अपने ही समाज के लोग दोषी हैं. ऐसे में जरूरी है कि वे आत्ममंथन करें, ताकि उनका भविष्य सुधर सके.

नुक्कड़ नाटक के माध्यम से चलायें जागरूकता अभियान : मेयर

मृतक के परिजनों को मेयर आशा लकड़ा ने कहा कि दारू बेचने पर रोक लगाने के लिए जरूरी है कि लोग आगे आयें. इसके लिए उन्होंने नुक्कड़ नाटक के माध्यम से जागरूकता अभियान चलाने की भी बात कही. इसमें उन्होंने केंद्रीय सरना समिति को सहयोग देने की अपील भी की. उन्होंने मृतक के आश्रितों को निगम में दैनिक कर्मी बहाल करने की घोषणा की. इस दौरान मंत्री सीपी सिंह ने आश्रितों को राशन कार्ड, विधवा पेंशन योजना सहित अन्य लाभ देने का भरोसा दिलाया.

इसे भी पढ़ें-  जमाबंदी रद्द करने का आदेश, फिर भी सीओ की पत्नी ने खरीद ली जमीन

आगे आयें सरना समिति के लोग : डिप्टी मेयर

डिप्टी मेयर संजीव विजयवर्गीय ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि बस्ती में रहनेवाले लोगों को ही सजग होकर दारू पीने और बनानेवालों के खिलाफ आगे आना होगा. इस कार्य में जहां भी उन्हें प्रशासन की आवश्यकता होगी, यह सुविधा दी जायेगी. सरना समिति के लोगों को संबोधित करते हुए डिप्टी मेयर ने कहा कि जब तक समाज के आम लोग ऐसे कार्यों में आगे नहीं आते, तब तक इसे रोका नहीं जा सकता.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: