National

अनुभव और वास्तविकता से हिम्मत मिली है मुझे : राहुल गांधी

Pune : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि वास्तविकता को स्वीकार करने से उन्हें हिम्मत मिली है. गौरतलब है कि राहुल संवाद सत्र में बोल रहे थे, जिसका संचालन अभिनेता सुबोध भावे और रेडियो जॉकी मलिष्का कर रहे थे.

यदि आप झूठ को स्वीकार करते हैं, तो आप डरेंगे : राहुल

कार्यक्रम के दौरान उनसे उनके परिवार में दो-दो हत्याएं देखने के बावजूद राजनीति में आने का साहस करने से संबंधित पूछे गये सवाल के जवाब में राहुल ने कहा कि मुझे अनुभव से साहस मिला, और जिन चीजों का मैंने सामना किया.

इसे भी पढ़ें- भाजपा आठ अप्रैल को जारी कर सकती है अपना चुनावी घोषणापत्र

मुझे वास्तविकता को स्वीकार करने से हिम्मत मिली. यदि आप वास्तविकता को स्वीकार करते हैं, तो आपको साहस मिलेगा, और यदि आप झूठ को स्वीकार करते हैं, तो आप डरेंगे.

पिता और दादी की हत्या के बावजूद राजनीति में आने का साहस मिला

उन्होंने कहा कि वास्तविकता कभी-कभी कड़वी होती है, कभी-कभी अच्छी होती है. लेकिन मैं वास्तविकता को स्वीकार करता हूं चाहे वह कड़वी हो या अच्छी हो. मैं उस आधार पर काम करता हूं और इस तरह मुझे हिम्मत मिलती है. अपने पिता और दादी की हत्या का साक्षी होने के बावजूद राजनीति में आने का साहस मिला.

उल्लेखनीय है कि राहुल गांधी के पिता राजीव गांधी और दादी इंदिरा गांधी, दोनों पूर्व प्रधानमंत्रियों की साल 1991 और 1984 में हत्या कर दी गई थी.

इसे भी पढ़ें- भारतीय वायुसेना ने अमेरिकी मीडिया रिपोर्ट को नकारा, कहा- गिराया था पाक का F-16

Telegram
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close