न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

गूगल ने यौन दुर्व्यवहार के मामलों में सख्ती का किया वादा

कंपनी की पुरुष वर्चस्व वाली संस्कृति के खिलाफ इसके हजारों कर्मियों द्वारा पिछले हफ्ते किए गए प्रदर्शन के बाद यह वादा किया गया है.

41

San Francisco : गूगल ने यौन दुर्व्यवहार के मामलों से निपटने में ज्यादा सख्ती और खुलापन दिखाने का वादा किया है. कंपनी की पुरुष वर्चस्व वाली संस्कृति के खिलाफ इसके हजारों कर्मियों द्वारा पिछले हफ्ते किए गए प्रदर्शन के बाद यह वादा किया गया है.

mi banner add

इसे भी पढ़ें : अपनी पसंद की स्वतंत्रता से गुरेज नहीं, मजाक को हल्के में लें : कोहली

गूगल ने प्रदर्शनकारी कर्मियों की यह प्रमुख मांग मान ली है कि यौन दुर्व्यवहार के सभी मामलों में अनिवार्य मध्यस्थता की शर्त हटाई जाए. यह नियम अब ऐच्छिक होगा ताकि शिकायतकर्ता कर्मी खुद ही इस बात का फैसला कर सके कि उसे मामला अदालत में ले जाना है या अपने मामले को कंपनी की जूरी के समक्ष रखना है.

इसे भी पढ़ें : हैवानियत : गैंगरेप के बाद प्राइवेट पार्ट में डाला डंडा, महिला की मौत

कई कर्मी यौन उत्पीड़न के शिकार

महिला कर्मियों द्वारा की गई शिकायत के बाद कैब सेवा प्रदाता उबर कंपनी ने भी कुछ ऐसे ही बदलाव किए थे. कंपनी की आंतरिक जांच में पता चला कि उसके कई कर्मी यौन उत्पीड़न के शिकार हुए हैं.

Related Posts

चंद्रयान-2  पृथ्वी की कक्षा में स्थापित , पीएम मोदी ने  वैज्ञानिकों  को बधाई दी

छह -आठ सितंबर के बीच चांद पर  चंद्रयान उतरेगा. 16 दिनों चंद्रयान-2 पृथ्वी की परिक्रमा करते हुए चांद की तरफ बढ़ेगा.

गूगल के सीईओ सुंदर पिचई ने कंपनी के कर्मियों को भेजे एक ई-मेल में कहा कि गूगल के वरिष्ठ अधिकारियों (लीडरों) और मैंने आपकी प्रतिक्रिया सुनी है और आपकी ओर से साझा की गई बातों से काफी प्रभावित हुआ हूं.

इसे भी पढ़ें : अब टीवी पर समाचार पढ़ेंगे आर्टिफिशियल न्यूज एंकर

यौन उत्पीड़न एवं दुर्व्यवहार की शिकायत

बृहस्पतिवार को पिचई की ओर से भेजे गए ईमेल में कहा गया कि हम मानते हैं कि हमने अतीत में हमेशा सब कुछ सही नहीं किया और हमें इसका दुख है. हमें कुछ बदलाव करने की जरूरत है.

पिछले हफ्ते दुनिया के अलग-अलग देशों में गूगल के कर्मियों ने अपने दफ्तरों में बने अपने बैठने की जगहों (क्यूबिकल्स) से बाहर निकल कर यौन उत्पीड़न एवं दुर्व्यवहार की शिकायतों के मामलों में अपने वरिष्ठ अधिकारियों की शिथिलता का विरोध किया था. प्रदर्शन आयोजित करने वालों के अनुमान के मुताबिक, करीब 20,000 कर्मियों ने इसमें हिस्सा लिया.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: