NationalSci & TechWorld

गूगल ने की नयी प्राइवेसी सेटिंग की घोषणा, सेटिंग,  जानिये ये कैसे है आपके लिए यूजफुल 

New Delhi :  गूगल ने निजता तय करने की नई व्यवस्था के साथ ही कृत्रिम मेधा टूल और एंड्रायड 12 का पहला बीटा वर्जन जारी करने सहित कई नयी सुविधाओं की घोषणा की है. एंड्रायड 12 इस साल गूगल के उत्पादों में शामिल हो जाएगा.

इसे भी पढ़ें :वीना जॉर्ज और शैलजाः जानिए, सोशल मीडिया में क्यों चर्चा में हैं केरल की ये दो महिलाएं

गूगल के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) सुंदर पिचाई ने कैलिफोर्निया के माउंटेन व्यू परिसर से गूगल के कार्यस्थलों को लेकर नयी नीतियों की भी घोषणा की. इसके तहत खासतौर पर दुनिया भर में कार्यालयों से दूर रहकर काम करने की व्यवस्था अपनाने की मजबूरी को देखते हुए गूगल को बेहतर सहयोग करने में मदद मिलेगी.

advt

 

पिचाई ने कहा कि ‘‘कोविड-19 ने हर समुदाय को बुरी तरह से प्रभावित किया है और ब्राजील और मेरा गृह देश भारत इस समय अपने सबसे मुश्किल दौर से गुजर रहे हैं.’’

इसे भी पढ़ें :जर्जर भवन ध्वस्त, स्वास्थ्य कर्मी बाल-बाल बचे

पिचाई ने कहा, ‘‘गूगल ने इस दौर से उबरने में एक-दूसरे की मदद करने के लिए उत्पाद जारी किए हैं और पहल शुरू की हैं . ताकि इनसे छात्रों और शिक्षकों को पठन-पाठन जारी रखने में मदद मिले, छोटी व्यापार इकाइयों को समय के साथ ढलने एवं प्रगति करने में मदद मिले और जरूरतमंद समुदायों को आपात राहत एवं टीके हासिल करने में आसानी हो.’’

पिचाई और गूगल के दूसरे अधिकारियों ने इस पूरे साल अलग-अलग उत्पादों के लिहाज से जारी किए जाने वाले टूल और सुविधाओं के लिए रूपरेखा तैयार किया है. इन उत्पादों में सर्च, लेंस, फोटो, मैप और शॉपिंग सहित अन्य चीजें शामिल हैं .

इसे भी पढ़ें : दिल्ली में अब ब्लैक फंगस का प्रकोप, मरीजों को बेड का इंतजार

बेहतर निजता के लिए गूगल एक नया ‘‘क्विक डिलीट’’ विकल्प ला रही है जिससे गूगल खाता मेन्यू में एक टैप के साथ पिछले 15 मिनट की सर्च हिस्ट्री (गूगल पर सर्च का इतिहास) हट जाएगी . कंपनी मैप्स टाइमलाइन में लोकेशन हिस्ट्री (जगह की जानकारी का इतिहास) रिमाइंडर भी पेश कर रही है.

इसे भी पढ़ें : प्रो अरुण राय की पहल से अमेरिकी मित्रों ने झारखंड को दिए छह ऑक्सीजन कॉन्सेनट्रेटर

गूगल एंड्रायड का पहली बीटा संस्करण भी जारी कर रही है जिसके साथ 2014 के बाद से एंड्रायड के डिजाइन में सबसे बड़ा बदलाव होगा . नवीनतम संस्करण में ऐसी सुविधाएं होंगी जो ज्यादा पारदर्शिता के साथ बताएंगी कि कौन से ऐप उपभोक्ताओं के डेटा हासिल कर रहे हैं . इससे उपभोक्ताओं को ज्यादा नियंत्रण की सुविधा मिलेगी और वे बेहतर फैसला कर सकेंगे.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: